उज्जैन, नईदुनिया प्रतिनिधि। निजातपुरा में महालक्ष्मी अपार्टमेंट के समीप 28 जून 2015 को दो बाइक सवारों ने पान की दुकान संचालित करने वाले व्यक्ति को चाकू से हमला कर मौत के घाट उतार दिया था। बदमाशों ने मृतक से फोन पर एक लाख रुपए की मांग की थी। मृतक का भानजा व दोस्त कोर्ट में गवाही के दौरान मुकर गए। कोर्ट ने बदमाशों के कपड़ों व चाकू पर मृतक के खून व मौके से मिले एक बदमाश के शर्ट के बटन के आधार पर आजीवन कैद व एक-एक हजार रुपए के जुर्माने की सजा सुनाई है।

इसके अलावा बदमाशों का सहयोग करने वाले युवक को सबूत के अभाव में बरी कर दिया गया। उपसंचालक अभियोजन डॉ. साकेत व्यास ने बताया कि कंठाल चौराहे पर पान की दुकान संचालित करने वाले संजय उर्फ संजय शर्मा से गौरव उर्फ गौरू पिता अशोक शर्मा निवासी बहादुरगंज व सोनिया उर्फ सुनील उर्फ सोनू पिता मदनलाल राठौर निवासी राजेंद्र नगर ने फोन पर एक लाख रुपए की मांग की थी। रुपए नहीं देने पर हत्या की धमकी दी थी।

संजू ने रुपए देने से इंकार कर दिया था। 28 जून 2015 की शाम सवा सात बजे संजू अपने भांजे राहुल पिता राध्ोश्याम शर्मा निवासी अवंतिपुरा व दोस्त धर्मेंद्र खूबचंदानी निवासी पटेल नगर के साथ एक्टिवा से वीडी क्लॉथ मार्केट की ओर जा रहा था। निजातपुरा स्थित महालक्ष्मी अपार्टमेंट के समीप गोरू व सोनिया ने बाइक अड़ाकर रोक लिया और संजू पर चाकू से वार कर हत्या कर दी थी। पुलिस ने सोनिया, गौरू के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया था। इनका सहयोग करने वाले तीसरे साथी सतीश उर्फ बंटी पिता शैलेंद्र निगम निवासी नीलगंगा के खिलाफ भी मामला दर्ज किया था।

कपड़ों और चाकू पर मिला था मृतक का खून

कोर्ट में गवाही के दौरान मृतक के भांजे राहुल शर्मा व दोस्त धर्मेंद्र खूबचंदानी ने हत्यारों को पहचानने से इंकार कर दिया था। पुलिस ने बदमाश गौरव व सोनिया के हत्या के दौरान पहने गए कपड़े व हत्या में प्रयुक्त चाकू जब्त किया था। कपड़ों व चाकू पर मृतक संजू का खून मिला था। जांच में साबित हो गया था कि खून मृतक का था।

इसके अलावा घटनास्थल से सोनिया के शर्ट के टूटे दो बटन मिले थे। दोनों आधार पर कोर्ट ने सोनिया व गौरव को आजीवन कारावास व एक-एक हजार रुपए जुर्माने की सजा सुनाई है। सतीश को सबूत के अभाव में बरी कर दिया गया। मामले में शासन की ओर से पैरवी डीपीओ राजकुमार नेमा ने की। सतीश की ओर से पैरवी हरदयालसिंह ठाकुर ने की।

सोनिया को पुणे से लाई पुलिस

संजू की हत्या करने वाले बदमाश पर बीते दिनों पुणे में हुई बिल्डर की हत्या का भी आरोप है। पुणे पुलिस उसे गिरफ्तार कर ले गई थी। संजू की हत्या के मामले में मंगलवार को सजा सुनाई जाना थी। इस कारण कोर्ट के निर्देश पर मंगलवार को पुणे पुलिस सोनिया को उज्जैन लेकर आई थी।