उज्जैन। यूट्यूब से वेबसाइट बनाना सीखकर बीसीए सेकंड सेमेस्टर के छात्र ने 120 लोगों को जॉब रजिस्ट्रेशन करने का झांसा देकर उनके बैंक खातों से 12 लाख रुपए उड़ा दिए। युवक रजिस्ट्रेशन के नाम पर मात्र 10 रुपए देने का झांसा देता था, लेकिन बैंक खाते से 10 हजार रुपए कट जाते थे। भोपाल राज्य सायबर सेल ने उसे गिरफ्तार किया था। उज्जैन पुलिस को ठगाए युवक ने शिकायत की थी। इस पर पुलिस आरोपित को प्रोडक्शन वारंट पर लेकर आई थी।

पूछताछ में आरोपित ने अपने तीन साथियों के नाम पुलिस को बताए हैं। इनमें दो लड़कियां भी शामिल हैं। जिनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस जल्द ही दिल्ली जाएगी। एसपी शशिकांत शुक्ला ने बताया कि हरिहर कॉलोनी निवासी अक्षय राठौर ने शिकायत की थी। युवक के अनुसार उसे एक लड़की ने फोन कर झांसा दिया था कि वह उनकी वेबसाइट पर जाकर रजिस्ट्रेशन करने पर उसे नई-नई जॉब के बारे में जानकारी दी जाएगी। इसके एवज में मात्र 10 रुपए शुल्क चुकाना होगा। राठौर ने वेबसाइट पर रजिट्रेशन किया और बैंक खाते से 10 रुपए जमा करने के लिए ऑनलाइन पेमेंट किया था। मगर उसके खाते से 10 हजार रुपए कट गए थे। इस पर पुलिस जांच में जुटी थी। बीते दिनों भोपाल राज्य सायबर सेल ने बुलंदशहर यूपी के निवासी विशाल पिता गजेंद्र कुमार गोस्वामी को गिरफ्तार किया था। उज्जैन पुलिस उसे लेकर आई थी।

सेटिंग कर रखी थी

विशाल ने पुलिस को बताया कि वह बीसीए सेकंड सेमेस्टर का छात्र है। दिल्ली में रहकर पढ़ाई कर रहा है। उसने यूट्यूब पर वेबसाइट बनाना सीखा था। इसके बाद उसने वेबसाइट बनाकर जॉब रजिस्ट्रेशन के नाम पर धोखाधड़ी करना शुरू कर दिया। लोगों को वह मात्र 10 रुपए में रजिस्ट्रेशन करने का झांसा देता था। जब कोई पेमेंट करता तो उसके बैंक खाते से सीधे 10 हजार रुपए गायब होते थे। इस तरह की सेटिंग उसने कर रखी थी। इस काम में उसके साथ दिल्ली की सौफिया उर्फ शाहना, सोनल राठौर व साहिल डागर नामक युवक साथ देते थे। वह लोगों को फोन कर जॉब रजिस्ट्रेशन के लिए कहते थे। अब तक करीब 120 लोगों के बैंक खातों से 12 लाख रुपए गायब कर चुके हैं।