उज्जैन। माध्यमिक शिक्षा मंडल की बोर्ड परीक्षा में अपनी तरह का पहला और हैरत में डालने वाला मामला सामने आया है। यहां शनिवार को हुई कक्षा 12वीं की परीक्षा में एक छात्र की जगह एक लड़की परीक्षा देने पहुंच गई। इसके लिए उसने फर्जी प्रवेश पत्र भी तैयार किया था। वीक्षक ने अपने पास मौजूद सूची से मिलान किया तो यह गड़बड़ी पकड़ में आई। तत्काल लड़की को केंद्र से बाहर किया। पुलिस मामले की जांच कर रही है। मामला सामने आने पर अफसर भी हैरत में पड़ गए।

मामला शासकीय जीवाजीगंज हायर सेकंडरी स्कूल परीक्षा केंद्र का है। यहां शनिवार को 12वीं कक्षा का अंग्रेजी विषय का पर्चा था। केंद्र पर छात्र अर्जुन जाट के स्थान पर शिवानी रामचंद्र नाम की लड़की परीक्षा देने पहुंच गई। फर्जी प्रवेश पत्र की मदद से उसने परीक्षा हॉल में भी प्रवेश कर लिया हालांकि वीक्षक ने जांच में उसे पकड़ लिया। तत्काल उसे केंद्र से बाहर किया गया और पूछताछ कर केस बनाया। आगे की जांच के लिए मामला पुलिस को सौंप दिया गया है। लड़की से पूछताछ करके पुलिस ने उसे जाने दिया। जिस तरीके से परीक्षा में फर्जीवाड़े को अंजाम दिया जा रहा था, उससे आशंका है कि कोई गिरोह सक्रिय है, जो छात्र-छात्राओं के स्थान पर दूसरों को परीक्षा में बैठा रहा है। क्योंकि मामला व्यापमं घोटाले की तर्ज पर है, इसलिए अफसर इसे बेहद गंभीरता से ले रहे हैं। माशिमं ने भी तुरंत ही इस प्रकरण से जुड़ी सारी जानकारी तलब कर ली है। प्रदेश के सभी केंद्रों को अलर्ट रहने को कहा गया है।

माशिमं के सचिव बोले - गंभीर मामला

मामले में माध्यमिक शिक्षा मंडल के सचिव अजय गंगवार ने नईदुनिया से कहा कि लड़के की जगह लड़की के परीक्षा देने पहुंचने का मामला गंभीर है। मामले में डीईओ से रिपोर्ट ली है। पूरे प्रदेश में ऐसा फर्जीवाड़ा होने की आशंका के चलते सभी डीईओ और केंद्र अध्यक्षों को अलर्ट किया है। रिपोर्ट के आध्ाार पर परीक्षार्थी और फर्जी छात्रा के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।