लीडः-

विधानसभा अध्यक्ष, वनमंत्री और लोके निर्माण मंत्री ने किेया प्रदेश के पहले तितली पार्क केा लोकेार्पण

-पर्यटन के क्षेत्र केो मिलेगा नया आयाम-विधानसभा अध्यक्ष

-बधाों केो तितलियों केो जानने तथा प्रकेृति से जुड़ने केा अवसर मिलेगा-वनमंत्री

-तितली पार्क से जिले केो नई पहचान मिलेगी-लोके निर्माण मंत्री

फोटो : 15 आरएसएन-01

रायसेन। तितली पार्क लोकार्पण केरते मप्र विधानसभा अध्यक्ष,वनमंत्री और लोक निर्माण मंत्री।

फोटो : 15 आरएसएन-02

रायसेन। तितली पार्क में घूमते अतिथि।

रायसेन। नवदुनिया प्रतिनिधि

गुरुवार को गोपालपुर में बने तितली पार्क और ओपन थिएटर का मप्र विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीताशरण शर्मा और वनमंत्री डॉ.गौरीशंकर शेजवार और लोक निर्माण मंत्री रामपाल सिंह राजपूत के द्वारा लोकार्पण किया गया। यह तितली पार्क प्रदेश का पहला तितली पार्क है। उक्त तितली पार्क वनमंत्री डॉ.गौरीशंकेर के अथक प्रयासों से मूर्तिरूप ले सका है। तितली पार्क में 137 प्रजातियों के पौधे लगाए गए हैं, तो इसमें 65 तरह की तितलियां हैं। कार्यक्रम के आरंभ में ईको टूरिज्म बोर्ड के मुख्य कार्यपालन अधिकारी पुष्कर सिंह ने तितली पार्क के निर्माण के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

-पर्यटन के क्षेत्र को मिलेगा नया आयाम- विधानसभा अध्यक्ष

प्रकृति और प्राणी को गहरा संबंध है। प्रकृति को नुकसान पहुंचता है तो इसका सीधा असर वातावरण पर पड़ता है,जिससे प्राणी प्रभावित होते हैं। प्रकृति का चक्र सामान्य रूप से चलता रहे, इसके लिए जरूरी है प्रकृति का संरक्षण। यह तितली पार्क प्रकृति के संरक्षण में वन विभाग केी महत्वपूर्ण पहल है। यह बात विधानसभा अध्यक्ष सीताशरण शर्मा ने रायसेन में प्रदेश के पहले तितली पार्क के लोकार्पण अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में कही। उन्होंने कहा कि तितली पार्क में आने वाले बधाों और लोगों को न केवल सामान्य ज्ञान बढ़ेगा, बल्कि वे प्रकृति के निकट भी आएंगे। कार्यक्रम में तितली पार्क के साथ ही तितलियों एवं प्रकृति के संबंध में छात्र-छात्राओं एवं पर्यटकों को जानकारी देने के लिए बनाए गए ऑडिटोरियम का भी लोकेार्पण किया गया।

-भविष्य में मछली घर भी बनेगा

वनमंत्री डॉ गौरीशंकेर शेजवार ने कहा कि यह तितली पार्क पर्यटन को नया आयाम देगा साथ ही बधाों के ज्ञानवर्धन के लिए उपयोगी सिद्घ होगा। उन्होंने कहा कि बधो तितली पार्क में आकर न केवल विभिन्न प्रजातियों की तितलियों के बारे में जानेंगे बल्कि उन्हें प्रकृति से जुड़ने का अवसर भी मिलेगा। रायसेन में बना प्रदेश का यह पहला तितली पार्क ईको पर्यटन के क्षेत्र में प्रदेश को एक नई पहचान देगा। पहाड़ी पर बने वॉच टावर से प्रकृति के अनुपम दृश्य को देखना रूचिकर लगेगा। उन्होंने बताया कि भविष्य में मछली घर के निर्माण की भी योजना है।

-पर्यटकों केो मिलेगा बढ़ेगा- लोक निर्माण मंत्री

लोके निर्माण मंत्री रामपाल सिंह ने कहा कि तितली पार्क के बन जाने से जिले में पर्यटकों को आना भी बढ़ेगा और उन्हें जिले की अन्य महत्वपूर्ण धरोहरों केो देखने और जानने के साथ-साथ तितली पार्क के माध्यम से प्रकृति से जुड़ने के अवसर मिलेगा। उन्होंने तितली पार्क को जिले के लिए एक बड़ी उपलब्धि बताया। उन्होंने कहा कि सरकेार प्रदेश के विकास के लिए निरंतर काम कर रही है। हाल ही में हुई ओलावृष्टि से प्रभावित किसानों केी हर संभव मदद की जाएगी। उन्हें कहा कि क्षति को सर्वे कराया जा रहा है तथा किसानों को मुआवजा तथा बीमा की राशि दिलाई जाएगी।

-कार्यक्रम में यह रहे मौजूद

कार्यक्रम में जिला पंचायत अध्यक्ष अनीता किरार, सांची जनपद अध्यक्ष एस मुनियन, अपर मुख्य सचिव दीपक खाण्डेकर, प्रधान वन संरक्षक अनिमेश शुक्ल, प्रधान मुख्य वन संरक्षके जितेन्द्र अग्रवाल, मुख्य वन संरक्षक भोपाल वृत्त विजय नीमा, कलेक्टर भावना वालिम्बे, एसपी जगत सिंह राजपूत, डीएफओ राजेश खरे, डीएफओ रमेश गनावा, डीएफओ रविन्द्र सक्सेना तथा वन विकेास निगम के एमडी रवि श्रीवास्तव , उपस्थित थे।

-तितली पार्क केी खास बातें

गोपालपुर के समीप वन विभाग द्वारा 400 हेक्टेयर क्षेत्र केो मनोरंजन क्षेत्र घोषित किेया गया है, जिसमें तीन हेक्टेयर क्षेत्र में तितली पार्क का निर्माण किया गया है। इस तितली पार्क में 65 प्रजातियों केी तितलियां हैं। तितलियों के जन्म लेने तथा पलने-बढ़ने के लिए अनुकूल वातावरण पैदा करने वाले 137 तरह के पौधे लगाए गए हैं। तितली पार्क के पास ही ट्रेकिंग ट्रेके बनाया गया है, जिसके माध्यम से ऊपर चढ़कर प्रकृति के दृश्य को निहारना मनोरंजक लगेगा।

-तितली पार्क ब्रोशर केा विमोचन

विधानसभा अध्यक्ष श्री सीताशरण शर्मा, वनमंत्री डॉ गौरीशंकर शेजवार तथा लोक निर्माण मंत्री रामपाल सिंह ने तितली पार्क पर बने ब्रोशर केा विमोचन किया। इस ब्रोशर में तितलियों की प्रजातियों तथा तितली के जीवन चक्र के बारे में विस्तार से जानकेारी दी गई है। इस मौके पर पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष भवरलाल पटेल, जिला पंचायत अध्यक्ष अनीता किेरार, विधायके प्रतिनिधि डॉ.जयप्रका श किरार सहित बड़ी संख्या में जनप्रनिधि और वन विभाग के अधिकारी, कर्मचारी मौजूद थे।