Naidunia
    Wednesday, April 25, 2018
    PreviousNext

    146 खरीदी केंद्र पर, 51 हजार किसान बेचेंगे गेहूं, 15 मार्च से शुरू होगी खरीदी

    Published: Tue, 13 Mar 2018 04:10 AM (IST) | Updated: Tue, 13 Mar 2018 04:10 AM (IST)
    By: Editorial Team

    लीडः-

    समर्थन मूल्य पर खरीदी : जिलेभर में इस बार 45 लाख क्विंटल गेहूं खरीदी का लक्ष्य तय

    -गेहूं की खरीदी लिए 88 लाख बारदाना की है जरूरत

    -----------

    फैक्ट फाइलः-

    -गतवर्ष 31 हजार 349 किसानों ने केंद्र पर बेचा था गेहूं।

    -जिलेभर में इस बार समर्थन मूल्य पर 45 लाख क्विंटल गेहूं खरीदी लक्ष्य।

    -खरीदी के लिए बनाए गए हैं 146 केंद्र।

    -113 सोसायटी हैं जिलेभर में।

    -किसानों को एसएमएस से मिलेगी सूचना।

    फोटो : 12 आरएसएन-01

    रायसेन। कृषि उपज मंडी स्थित खरीदी केन्द्र। ( फाइल फोटो )

    रायसेन। नवदुनिया प्रतिनिधि

    गेहूं खरीदी 15 मार्च से शुरू हो जाएगी। इसके लिए जिले में 146 खरीदी केंद्र बनाए गए हैं। इस वर्ष 45 लाख क्विंटल गेहूं खरीदी का लक्ष्य रखा गया है। गत वर्ष 38 लाख 30 हजार 618 क्विंटल गेहूं की खरीदी की गई थी। खरीदी कार्य में तीन दिन शेष हैं। कलेक्टर ने सोसायटी प्रबंधकों निर्देश दिए हैं कि खरीदी केंद्रों पर पहुंचने वाले किसानों को छांव, पेयजल की व्यवस्था, अस्थाई शौचालय सहित अन्य सभी व्यवस्थाएं की जाएं। ताकि खरीदी केंद्रों पर पहुंचने वाले किसानों को किसी भी तरह की अव्यवस्थाओं का सामना न करना पड़े।

    समर्थन मूल्य केंद्र पर गेहूं बेचने में इस बार जिले के किसानों ने रूचि दिखाई है। इस साल केंद्र पर गेहूं बेचने के लिए 51 हजार 11 किसानों ने पंजीयन कराया है। जिसमें 48 हजार 104 का सत्यापन किया जा चुका है। गतवर्ष 49 हजार 915 किसानों ने पंजीयन कराया था। जिसमें से 31 हजार 349 ने समर्थन मूल्य केंद्र पर गेहूं बेचा था। इन किसानों से 38 लाख 30 हजार 618 क्विंटल गेहूं खरीदा गया था। केंद्रों पर 15 मार्च से खरीदी शुरू की जाएगी। क्षेत्र में गेहूं कटाई का दौर भी शुरू हो गया है। जल्द ही जिले की मंडियों में नया गेहूं पहुंचने लगेगा।

    खाद्य आपूर्ति अधिकारी चेतराम कौशल का कहना है जो पिछले वर्ष के पंजीयन हुए थे। वह भी रिन्यूवल होंगे और इस साल के पंजीयन में जोड़ दिए जाएंगे। पिछले साल के पंजीयन को मिला कर अभी तक कुल 51 हजार 11 पंजीयन हुए हैं। भावांतर योजना के तहत कृषि उपज मंडी में पंजीयन किए जा रहे हैं।

    -सरकार दो हजार रुपए प्रति क्विंटल खरीदेगी गेहूं

    शासन ने इस वर्ष गेहूं का समर्थन मूल्य 1735 रुपए निर्धारित किया है। जबकि पिछले वर्ष 1635 रुपए था। भावांतर भुगतान योजना के तहत सरकार ने गेहूं 2000 रुपए प्रति क्विंटल में खरीदने की घोषणा की है। केंद्र सरकार ने इसका एमएसपी 1735 रुपए प्रति क्विंटल तय किया है। इस पर प्रदेश सरकार 265 रुपए किसानों को बोनस के रूप में देगी।

    चल रहा है सत्यापन कार्य

    शासन के निर्देशानुसार किसानों के पंजीयन होने के बाद हल्का पटवारी व राजस्व अधिकारी सत्यापन करेंगे। पिछले साल हुए पंजीयनों का भी बारीकी से सत्यापन किया जा रहा है। अगर किसी किसान के खेत खाली डले हैं तो उसका नाम इस लिस्ट से काटा जाएगा। राजस्व विभाग 100 फीसदी पंजीयनों का सत्यापन करेगा। जिसमें पटवारी को किसान के खेत में कितने क्षेत्र में फसल है। उसकी पूरी जानकारी फार्म में भरकर तैयार करना है।

    खाद्य आपूर्ति अधिकारी चेतराम कौशल ने बताया कि न्यूनतम दाम में 100 रुपए व अधिकतम में 75 रुपए क्विंटल तक बढ़ोतरी हुई है। कारोबारियों के मुताबिक इस बार गेहूं में तेजी की उम्मीद है। इसका सबसे ज्यादा असर सामान्य ग्राहकों पर होगा। उन्हें इस बार 150-200 रुपए क्विंटल महंगा गेहूं खरीदना पड़ेगा। रबी विपणन वर्ष 2018-19 में गेहूं के उपार्जन के लिए तैयारी की भोपाल संभाग स्तरीय बैठक आयुक्त राजस्व की अध्यक्षता में 13 मार्च को आयुक्त कार्यालय भोपाल संभाग के सभाकक्ष में आयोजित की गई है।

    तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं

    खरीदी केंद्रों पर गेहूं की खरीदी की तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। किसानों को कोई असुविधा न हो इसका ध्यान रखा जाएगा।

    चेतराम कौशल, जिला आपूर्ति अधिकारी, रायसेन

    और जानें :  # Vidisha News
    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें