सीहोर। जिले में वर्ष 2018-19 में जनपद पंचायत स्तर पर विभिन्न तिथियों में स्पर्श अभियान तहत निःशक्तता प्रमाण पत्र व कृत्रिम अंग वितरण के लिए शिविर आयोजित किए जाएंगे। इस सिलसिले में कलेक्टर तरूण कुमार पिथोडे ने जिले के समस्त जनपद पंचायतों के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों को दिशा निर्देश जारी कर दिए गए हैं।

30 व 31 मई को जनपद पंचायत बुधनी में, 1 व 2 जून को जनपद पंचायत नसरुल्लागंज में, 5 व 6 जून को जनपद पंचायत इछावर में, 7 व 9 जून को जनपद पंचायत सीहोर में तथा 13 व 14 जून को जनपद पंचायत आष्टा में शिविरों का आयोजन किया जाएगा। कलेक्टर ने उक्त तिथियों में आयोजित शिविरों के लिए व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया गया है। शिविर में उपस्थित होने वाले हितग्राहियों, चिकित्सीय दल, तैनात अधिकारियों व कर्मचारियों के अतिरिक्त संस्था के समस्त उपस्थित सदस्यों के लिए छायादार भवन की व्यवस्था की जाए। निःशक्तजनों के लिए नवीन यूडीआईडी कार्ड तैयार कर स्पर्श पोर्टल पर दर्ज कराने की कार्रवाई की जाए। वंचित रहे दिव्यांगजनों को व जिनके पुराने प्रमाण पत्र की अवधि समाप्त हो गई उन्हें शिविर स्थल तक लाने ले जाने के लिए जनपद पंचायतों के पीसी, समग्र अधिकारियों, सचिव, रोजगार सहायक को निर्देशित किया जाए। शिविर की जानकारी से स्थानीय जनप्रतिनिधियों, अध्यक्ष, जिला पंचायत, जनपद पंचायत अध्यक्ष, अध्यक्ष नगरपालिका, नगर परिषद व सदस्य जिला पंचायत, सरपंच ग्राम पंचायत को आवश्यक रूप से सूचित करे ताकि अधिक से अधिक संख्या में दिव्यांगजन उपस्थित हो सके। शिविर में निःशक्तजनों को उपलब्ध कराई जा रही सामग्री का लेखाजोखा विधिवत रखते हुए संख्यात्मक जानकारी तत्काल उपलब्ध कराए। शिविर में टेंट, माईक, पीने का पानी, भोजन आदि की व्यवस्था मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत करेगी।

0000000000

आतंकवाद विरोधी दिवस 21 मई को, शासकीयकर्मी लेंगे शपथ

सीहोर। राज्य शासन के निर्देशानुसार 21 मई को आतंकवाद विरोधी दिवस मनाया जाएगा। आतंकवाद विरोध दिवस मानने का उद्देश्य यह है कि आतंकवाद राष्ट्रीय हितों के प्रतिकूल है तथा युवकों को आतंकवादी व हिंसावाद गतिविधियों से पृथक करना है। इस सिलसिले में कलेक्टर तरूण कुमार पिथोडे ने जिले के समस्त विभाग प्रमुखों को निर्देश जारी कर दिए गए हैं कि वे 21 मई को सुबह 11 बजे सभी शासकीय कार्यालयों, सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों और अन्य सार्वजनिक संस्थाओं में समस्त अधिकारियों व कर्मचारियों को आतंकवाद व हिंसा विरोधी शपथ दिलाना है।

आतंकवाद विरोधी दिवस पर ली जाने वाली शपथ

हम भारतवासी अपने देश की अहिंसा व सहनशीलता की परंपरा में दृढ़ विश्वास रखते हैं तथा निष्ठापूर्वक शपथ लेते है कि हम सभी प्रकार के आतंकवाद और हिंसा का डटकर विरोध करेंगे। हम मानव जाति के सभी वर्गों के बीच शांति, सामाजिक सदभाव तथा सूझबूझ कायम करने और मानव जीवन मूल्यों को खतरा पहुंचाने वाली विघटनकारी शक्तियों से लडने की भी शपथ लेते हैं।

00000000000000000