- नाराज किसान सड़क पर जमा हुए, तो स्टेशन रोड पर लगता रहा जाम

- डेढ़ घंटे बाद अधिकारियों के हस्तक्षेप के बाद शुरू हो सके पंजीयन

- कई किसान निराश होकर बिना पंजीयन कराए लौटे, को-आपरेटिव बैंक अधिकारी बोले- भोपाल भेजेंगे आवेदन

गुना। नवदुनिया प्रतिनिधि

समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी के लिए रजिस्ट्रेशन का गुरुवार अंतिम दिन था। इसके चलते पंजीयन केंद्रों पर किसानों की भीड़ उमड़ पड़ी। इसके चलते स्टेशन रोड स्थित पंजीयन केंद्र पर हंगामे की स्थिति बन गई। नाराज किसान सड़क पर उतर आए, तो दोनों ओर जाम के हालात बन गए। इधर, किसानों का कहना था कि अंतिम दिन होने से पंजीयन से चूक जाएंगे, क्योंकि केंद्र बंद है। करीब डेढ़ घंटे से ज्यादा समय तक किसान और पब्लिक परेशान होती रही। हालांकि जब अधिकारियों तक सेंटर बंद होने की सूचना पहुंची, तो उन्होंने केंद्र खुलवाकर तब तक पंजीयन के निर्देश दिए, जब तक पोर्टल चालू रहता है। इसके बाद हंगामा शांत हो सका।

गेहूं की समर्थन मूल्य पर खरीदी के लिए 15 जनवरी से जिले के 41 खरीदी केंद्रों पर पंजीयन किए जा रहे थे, लेकिन किसानों का जमावड़ा अंतिम दिन गुरुवार को लगा। शहर में पंजीयन के लिए जब किसान समिति में पहुंचे, तो मुंशी द्वारा बताया गया कि रजिस्ट्रेशन स्टेशन रोड स्थित एक प्राइवेट फोटोकापी दुकान में होंगे, जहां आपरेटर को बैठाया गया है। लेकिन जैसे ही किसान यहां पहुंचे, तो एकदम भीड़ उमड़ने से हंगामे की स्थिति बनने लगी। दुकान मालिक भी शटर गिराकर भाग खड़ा हुआ। इससे किसानों में नाराजगी के साथ ही पंजीयन न होने की आशंका सताने लगी। इस दौरान स्टेशन रोड पर करीब डेढ़ घंटे तक किसानों की भीड़ जमा रही, जिससे जाम के हालात बनते रहे। इसी बीच सूचना खाद्य अधिकारी व को-आपरेटिव बैंक मैनेजर तक पहुंची, तो उन्होंने पंजीयन केंद्र खुलवाया। साथ ही निर्देश दिए कि जब तक पोर्टल चालू रहता है, तब तक पंजीयन किए जाएं। लेकिन इस दौरान कई किसान बिना पंजीयन ही वापस लौट गए।

बॉक्स..

रात तक किए जाएंगे पंजीयन

को-आपरेटिव बैंक अधिकारियों के मुताबिक गेहूं खरीदी के पंजीयन एक महीने से चल रहे थे, लेकिन किसान अंतिम दिन के इंतजार में बैठे रहे। इसके चलते पंजीयन केंद्रों पर भीड़ के चलते कुछ अव्यवस्था की स्थिति बनी। क्योंकि, पंजीयन पोर्टल पर ही होना है। जबकि हर किसान चाह रहा था कि पहले उसका पंजीयन हो जाए। हालांकि, जितने भी किसान पंजीयन के लिए पहुंचे हैं, सभी के आवेदन लेने कहा गया है। इसके बाद रात तक पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन के निर्देश दिए गए हैं।

बॉक्स..

छूटे किसानों के आवेदन भोपाल भेजेंगे

इधर, जो किसान पंजीयन से छूट गए हैं, उनके आवेदन भोपाल भेजे जाएंगे। बैंक अधिकारी ऐसी भी संभावना जता रहे हैं कि उक्त स्थिति सब जगह बनी है। इसलिए उम्मीद है कि शासन की ओर से पंजीयन की तिथि और आगे बढ़ा दी जाए।

वर्जन-

जिले में पंजीयन एक महीने से किए जा रहे थे, लेकिन किसान अंतिम दिन का इंतजार करते रहे। इससे पंजीयन केंद्रों पर भीड़ बढ़ गई। स्टेशन रोड के रजिस्ट्रेशन सेंटर बंद होने की शिकायत मिली थी। इस पर को-आपरेटिव बैंक मैनेजर से चर्चा की, तो उन्होंने बताया कि चालू करा दिया गया। अब जो किसान पंजीयन से छूट जाएंगे, उनके आवेदन भोपाल भेज देंगे।

- जीके श्रीवास्तव, जिला खाद्य एवं आपूर्ति अधिकारी गुना

सभी समिति प्रबंधकों को सख्त निर्देश दिए गए हैं कि जब तक पोर्टल चालू रहता है, तब तक किसानों के पंजीयन किए जाएं। इसके लिए किसानों के आवेदन लेकर रख लें, ताकि रात तक रजिस्ट्रेशन किए जा सकें। किसानों की एकदम भीड़ के चलते कुछ अभद्रता की स्थिति बनी थी, जिससे सेंटर बंद कर दिया था। लेकिन उसे वापस चालू करा दिया गया था।

- लता कृष्णन, महाप्रबंधक, को-आपरेटिव बैंक गुना

फोटो-

1502जीएन-07, गुना। पंजीयन केंद्र बंद होने से सड़क पर किसानों के जमा होने से स्टेशन रोड पर लगता रहा जाम।

---