- सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए कहा

गुना। नवदुनिया प्रतिनिधि

पूर्व केंद्रीय मंत्री व सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि पिछले पांच महीने से प्रदेश की राजधानी मुंगावली और कोलारस बने हुए हैं। यदि चुनाव दो महीने बाद होता, तो बल्लभ भवन भी यहीं आ जाता। दरअसल, सिंधिया से पूछा गया था कि किसी उपचुनाव में मुख्यमंत्री के इतने चक्कर लगना, क्या माना जाए! इस सवाल का जवाब दे रहे थे। सांसद सिंधिया गुरुवार शाम कोलारस से लौटकर बैठक में शामिल होने दिल्ली जा रहे थे। इसी दौरान एयरोड्रम पर उन्होंने पत्रकारों से चर्चा की। उन्होंने आरोप लगाया कि मुंगावली व कोलारस विधानसभा में 22-23 हजार मतदाता ऐसे हैं, जिनके नाम तीन पोलिंग की मतदाता सूची में दिखाए गए हैं। इनमें फोटो, पिता का नाम व पता भी एक ही है। इससे मतदाता सूची में बड़ी गड़बड़ी की आशंका सामने आ रही है। इसकी शिकायत भी चुनाव आयोग में दर्ज कराई गई है। आचार संहिता के उल्लंघन के सवाल पर सांसद सिंधिया ने आरोप लगाया कि क्या-क्या नहीं हो रहा! आदिवासियों से पूछा जा रहा है कि किसे वोट करेंगे, यदि उसने कांगे्रस का नाम ले लिया, तो उस पर 186 व 165 का केस लादा जा रहा है।

बॉक्स..

प्रजातंत्र में न बीजेपी और न ही कांगे्रस जकड़ सकती

उपचुनावों में कांगे्रस पार्टी में भितरघात के सवाल पर सांसद सिंधिया ने कहा कि प्रजातंत्र में हर व्यक्ति को स्वतंत्रता है कि वह किस तरफ रहे। इसमें न बीजेपी और न ही कांगे्रस किसी को जकड़कर रख सकती है। दोनों उपचुनाव ज्योतिरादित्य और शिवराज के बीच होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि जो विकास हमने क्षेत्र में किया, उसे प्रदेश सरकार व सीएम ने शून्य कर दिया। मुद्दा भी यही है कि मतदाता विकास के साथ जाए या जिस दल ने 14 साल में मुंह ही न दिखाया हो, उसके साथ।

फोटो-

1502जीएन-16, गुना। एयरोड्रम पर पत्रकारों के सवालों का जवाब देते सांसद सिंधिया।

---