फाइल 10 पेज 13के लिए

सहकारी बैंक के संचालकों की बैठक आज

होशंगाबाद। जिला सहकारी कें द्रीय बैंक के संचालक मंडल की बैठक गुरूवार को बैंक के प्रधान कार्यालय के सभागार में दोपहर एक बजे होगी। यह जानकारी बैंक के सीईओ आरबीएस ठाकुर ने देते हुए बताया कि बैठक में विभिन्न विषयों पर निर्णय होना है। जिसमें समर्थन मूल्य गेहूं खरीदी, सार्वजनिक वितरण प्रणाली, रासायनिक खाद के लिए सहकारी समितियों के लिमिट स्वीकृति,नवीनीकृत करना, बैंक की वार्षिक साधारण सभा का आयोजन के संबंध में विधिक अभिमत पर चर्चा कर निर्णय लेना,बैंक के वर्ष 2018-19के वार्षिक बजट को स्वीकृत करना, शीर्ष बैंक को लिमिट स्वीकृत के लिए आवेदन भेजना, नावार्ड के सहयोग से डिपाजिट मोबाइल वैन की सुविधा प्रारंभ करने पर विचार करना नाबार्ड के सहयोग से कृषकों के हितार्थ सहकारी समितियों में माईको एटीएम सुविधा प्रारंभ करना, रूपे केडिट कार्ड का विमोचन आदि अनेक विषयों पर निर्णय होना है। बैंक संचालक मंडल की सूचना बैंक के संचालक मंडल के सभी सदस्यों को बैंक के पत्र के माध्यम से 5मार्च को सूचना भेजी जा चुकी है। सीईओ ने संचालक मंडल के सदस्यों से अनुरोध किया है कि निर्धारित समय पर उपस्थित हों।

0000000000000000

एक माह बाद खुल सका मंडी का तौलकांटा

होशंगाबाद। कृषि उपज मंडी का विवादित हो चुका तौलकांटा एक माह से बंद था। बुधवार को मंडी अध्यक्ष जानकी रामदास मीना और सचिव नीलकमल वैद्य की उपस्थित में तौलकांटे को खोला गया। इस तौलकांटे को मंडी सचिव ने बीते माह फरवरी में प्रीमियम राशि और ब्याज की राशि ज्यादा बकाया मानते हुए तौलकांटे को राजसात करते हुए बंद कर कर इसकी जानकारी मंडी बोर्ड भोपाल भेज दी थी। इस कारण इसे खोले जाने के भोपाल से मंडी बोर्ड के आदेश हो जाने के बाद भी एक सप्ताह का समय लग गया। बीते सोमवार को तौलकांटे खोले जाने की उम्मीद थी लेकिन मंडी सचिव के नहंी आने के कारण तौल कांटा बंद था। अब तौल कांट खुल जाने से खरीदी कार्य सुचारू रूप से जारी रह सकेगा। बीते माह हुई मंडी समिति की बैठक में भी तौलकांटे को खोले जाने का मुद्दा उठा था। जिस पर मंडी सचिव नीलकमल वैद्य ने कहा था कि मामला मंडी बोर्ड भोपाल जा चुका है। वहीं के आदेश से खुल सकेगा। अब आने वाले दिनों में गेहूं की खरीदी शुरू होना है। मंडी में खरीदी केंद्र बनाया गया है। किसानों का गेहूं इसी तौल कांटे पर तुलेगा। मंडी में आने वाला सभी तरह का अनाज भी इसी तौलकांटे पर तौला जाता है।

000000000000

आंगनबाडी सहायिकाओं की अनन्तिम सूची जारी

होशंगाबाद। एकीकृत बाल विकास परियोजना केसला में रिक्त सहायिकाओं के पद पर विकासखण्ड स्तरीय चयन समिति के अनुमोदन अनुसार अनन्तिम रूप से उम्मीदवारों का चयन कर लिया गया है। आंगनबाडी केन्द्र सुखतवा-143 में सहायिका के पद पर श्रीमती नीलू एवं आंगनबाडी केन्द्र बेलावाड़ा-120 में सहायिका के पद पर श्रीमती गीता कास्दे का चयन किया गया है। परियोजना अधिकारी ने बताया कि अनन्तिम रूप से चयनित उक्त उम्मीदवारों के विरूद्घ यदि किसी भी प्रकार के दावे अथवा आपत्ति हो तो 21 मार्च 2018 तक कार्यालयीन समय में एकीकृत बाल विकास परियोजना केसला कार्यालय में जमा किया जा सकता है। निर्धारित तिथि के बाद दावे अथवा आपत्ति स्वीकार नहीं की जाएगी।

000000000000

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजनांतर्गत होशंगाबाद में हुए 4294 पंजीयन

होशंगाबाद। गर्भवती तथा धात्री माताओं के स्वास्थ्य एवं पोषण में सुधार के लिए प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के अंतर्गत नकद प्रोत्साहन राशि प्रदान की जा रही है। इस योजना में गर्भावस्था के पश्चात् आंगनबाडी केन्द्र में पंजीयन कराने पर एक हजार रूपए की राशि प्रदान की जाती है। इसके पश्चात् प्रसव के पूर्व कम से कम एक चिकित्सीय जाँच के बाद 2 हजार रूपए की द्वितीय किश्त तथा बधो के जन्म का पंजीकरण एवं उसका प्रथम टीकाकरण होने के पश्चात 2 हजार रूपए की तृतीय किश्त प्रदान की जाती है। एकीकृत बाल विकास सेवा होशंगाबाद से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में वित्तीय वर्ष 2017-18 में इस योजना के अंतर्गत 4 हजार 294 गर्भवती महिलाओं का पंजीयन किया जा चुका है। परियोजना बाबई में 569, बनखेडी में 264, होशंगाबाद ग्रामीण में 491, केसला में 397, पिपरिया में 445, सिवनीमालवा में 403, सोहागपुर में 238 तथा इटारसी एवं होशंगाबाद शहरी में 1487 महिलाओं का पंजीयन प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के अंतर्गत किया गया है। इस योजना में प्रोत्साहन राशि डीबीटी के माध्यम से सीधे हितग्राही के खाते में डाली जाती है। अब तक होशंगाबाद जिले में लगभग 27 लाख रूपए की राशि गर्भवती महिलाओं को वितरित की जा चुकी है।