हार्मोन इन्बैलेंस, फंगल इंफेक्शन, धूप या बाहरी धूल आदि की वजह से अक्सर हमारी गर्दन का बड़ा हिस्सा काला हो जाता है। इससे न केवल हमारी खूबसूरती खराब होती है, बल्कि गंदगी से अन्य परेशानियां होने का खतरा भी रहता है।

एलोवरा

आज कॉस्मेटिक में सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है कॉस्मेटिक। इसलिए प्रतिदिन एलोवेरा के गूदे को निकालकर गर्दन पर रगड़ें। कालापन जाता रहेगा।

बेकिंग सोडा

इसके लिए सबसे पहले बेकिंग सोडा में पानी मिलाकर एक गाढ़ा पेस्ट बना लें। फिर इसे स्क्रब की तरह इस्तेमाल करें। इससे आपकी इन जगहों से डेड स्किन सेल्स हट जाएंगी और कालापन भी दूर होगा।

नीम का पेस्ट

हफ्ते में एक दिन नीम का पेस्ट गर्दन पर लगाने से सफेदी आती है। दरअसल नीम एक अच्छा एंटीबैक्टेरियल सोर्स है। इसके अलावा कालापन दूर करने के लिए आलू के पतले टुकड़ों को उन जगहों पर रगड़ने से काफी फायदा होता है। ऐसा करने से कुछ ही दिनों में वह हिस्सा गोरा लगने लग जाता है। वहीं इसके साथ अगर आप इसमें थोड़ा सा शहद और नींबू मिला दें तो असर दोगुना हो जाता है।

नींबू

नींबू एक काफी अच्छा नेचुरल ब्लीचिंग एजेंट है। इसलिए रोज सुबह नहाने से पहले गर्दन पर नींबू रगड़ने से भी कालापन दूर हो जाता है। पर नहाने के बाद आपको यहां मॉइश्चराइजर याद से लगा लेना चाहिए।

बादाम

बादाम का उपयोग कई कॉस्मेटिक प्रॉडक्ट में होता है। लेकिन यहां आपको बादाम का घरेलू उपयोग बता रहे हैं। इसमें 5 से 8 बादाम को घिसकर, इसमें एक चम्मच दूध पाउडर और शहद मिलाकर पेस्ट बनाएं और इस पेस्ट से हफ्ते में 3 से 4 बार गर्दन मालिश करें।

चंदन पाउडर

चंदन पाउडर में गुलाब जल मिलाकर उसे गर्दन कुछ समय तक लगातार मालिश करें। इसके बाद फिर आधे घंटे तक उस लैप को लगे रहने दें और बाद में साफ करें। लगातार कुछ हफ्तों तक ही ऐसा करने से काफी फायदा होता है।

हल्दी

हल्दी हमारी त्वचा को सबसे ज्यादा निखारने के काम आती है। इससे के लिए आप अपनी जरूरत के मुताबिक हल्दी को दूध के साथ मिलाएं और उसका पेस्ट बनाकर उन जगहों पर लगाएं। इसके बाद सूखने के बाद उसको हल्के हाथों से रगड़ लें, ऐसा करने से कुछ ही दिनों में इन जगहों सेकालापन काफी दूर हो जाएगा।