खूबसूरत दिखना इस दौड़भाग के वक्त में थोड़ा मुश्किल मामला हो गया है, क्योंकि एक तो जीवन बहुत तेज रफ्तार हो रहा है दूसरे कॉस्मेटिक्स का खर्च बहुत ज्यादा है। तीसरे यदि आपमें ब्यूटी पार्लर जाकर ट्रीटमेंट करवाने का धैर्य हो तो ही आप इस विकल्प को आजमा सकती हैं। लेकिन ऐसा करने से हमारे चेहरे पर निखार तो आता है लेकिन वह ज्यादा लंबे समय तक टिक नहीं पाता है। अगर आप कम पैसे में अपने चेहरे पर जादुई निखार चाहते हैं तो हम आपको ऐसे ही कुछ टेबलेट्‌स के बारे में बता रहे है।

ये आपको आसानी से किसी भी मेडिकल स्टोर पर आसानी से मिल जाएंगे। जी हां ये टेबलेट्‌स आपके चेहरे के लिए जादू जैसा असर करेंगी, इसे आपको खाना नहीं बल्कि फेसपैक बनाकर अपने चेहरे पर लगाना है। कई बीमारियों मेंखाई जाने वाली एस्प्रिन, विटामिन ई और विटामिन सी की टेबलेट्‌स हमारी सुंदरता को निखारने में बहुत फायदेमंद होती है। 15 से 30 दिनों तक इस पैक को लगाने से ही परिणाम दिखने लगते हैं।

एस्प्रिन टेबलेट्‌स

एस्प्रिन में मौजूद सैलिसिलिक एसिड त्वचा को एक्सफोलिएट, मुंहासों और धब्बों को दूर करने में मदद करता है।

3 एस्प्रिन, 1 कप पानी और 1 चम्मच आर्गेंनिक शहद की जरूरत होगी। एस्प्रिन की टेबलेट्‌स को पानी में घोल लें। इस टेबलेट के पानी में घुलने के बाद इसमें थोड़ा सा पानी और थोड़ा सा शहद मिला लें। आपका एस्प्रिन फेस मास्क तैयार है, अब इसे अपने चेहरे और गर्दन पर लगा लें। 20 मिनट के बाद इसे धो लें। इस फेस पैक को सप्ताह में एक बार से अधिक इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। 8 टेबलेट्‌स से ज्यादा का उपयोग नहीं करना चाहिए नहीं तो जलन पैदा हो सकती है।

विटामिन ई कैप्सूल

विटामिन ई का कैप्सूल एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होता है। विटामिन ई त्वचा में गहराई से प्रवेश कर त्वचा में निखार लाता है। यह पैक त्वचा को नमी प्रदान कर कोमल और चिकना बनाता है। इस फेस मास्क को बनाने के लिए विटामिन ई के 3 कैप्सूल और 5 बूंदें बादाम के तेल की जरूरत होती है। इसे बनाने के लिए विटामिन ई कैप्सूल

को खोलकर जेल निकालकर इसमें बादाम का तेल मिलाना है। फेस मास्क बनने के बाद आपको हर रात सोने से पहले इससे अपने चेहरे की मसाज करनी है। फिर सुबह ठंडे पानी से इसे धो लें।

प्रोबायोटिक कैप्सूल

यह अच्छे बैक्टीरिया से भरपूर कैप्सूल, त्वचा की मुक्त कणों के खिलाफ रक्षा, काले धब्बों को कम करने, नमी को लॉक करने और त्वचा की सूजन को कम करने में मदद करता है। इसे बनाने के लिए हमें 2 या 3 प्रोबायोटिक कैप्सूल, 5 बूंदे लैवेंडर तेल और 5 बूंदे बादाम के तेल की जरूरत होती है। इन सभी तेल को एक साथ मिक्स कर लें फिर कैप्सूल को खोलकर इसके अंदर के मिश्रण को इसमें अच्छी तरह से मिक्स करके पैक बना लें। फिर अपने चेहरे और गर्दन पर इसका पतला कोट लगा लें। सूखने तक इसे अपनी त्वचा पर लगा लें और फिर ठंडे पानी से इसे साफ कर लें। साफ त्वचा पाने वाले इस घरेलू उपाय को हफ्ते में दो बार करें।

विटामिन सी की गोली

विटामिन सी में मौजूद एल-एस्कॉर्बिक एसिड त्वचा के कोलेजन के स्तरको बढ़ावा देता है। 1 विटामिन सी कैप्सूल या गोली, आधा चम्मच गुलाब जल, एक चम्मच ग्लिसरीन और 5 बूंदे रोजहिप की जरूरत होती है। इन सभी को मिक्स करके पतला सा पेस्ट बना लें। हर रात साते हुए इसका पलताकोट चेहरे पर लगाना है। यह विटामिन

सी मास्क न केवल आपकी त्वचा से मुंहासों को दूर करता है बल्कि लोच भी पैदा करता है।


समुद्री शैवाल कैप्सूल

समुद्री शैवाल में त्वचा में सुधार लाने के गुण, विटामिन और मिनरल मौजूद होते हैं जो त्वचा की मृत कोशिकाओं को

एक्सफोलिएट करने में मदद करते हैं और स्वस्थ त्वचा को बढ़ावा देने और फाइन लाइन को कम करते हैं। इसे बनाने के लिए 3 समुद्री शैवाल कैप्सूल, 10 बूदें खूबानी के तेल और 1 चम्मच शहद की जरूरत होती है। समुद्री शैवाल कैप्सूल को खोलने के बाद इसमें शहद और खूबानी का तेल मिला लें। फिर इस विटामिन फेस पैक के

पतले पेस्ट को अपने चेहरे और गर्दन पर लगा लें। 30 मिनट के लिए ऐसे ही लगा रहने दें फिर इसे पानी से धो लें।