पुणे। देश में पहली बार सामूहिक बलात्कार मामले में कोर्ट ने तीन पुरुषों समेत एक महिला को भी 20 साल की सजा सुनाई है। पुणे सेशंस कोर्ट ने यह फैसला साल 2016 में 12 साल की नाबालिग बच्ची के साथ हुए सामूहिक बलात्कार के मामले में सुनाया है। आरोपी महिला नाबालिग बच्ची की चाची थी, जबकि बलात्कार करने वालों में से एक बच्ची का चचेरा भाई था।

साल 2013 में दिल्ली में हुए निर्भया कांड के बाद पुणे में भी एक सामूहिक बलात्कार का मामला सामने आया था। मामले की सुनवाई करते हुए पुणे सेशंस कोर्ट ने 34 वर्षीय महिला समेत 3 पुरुषों को 20 साल की सजा सुनाई है। कोर्ट ने इस गंभीर मामले को "किंगपिन" नाम दिया है। बता दें कि, पुलिस ने सभी आरोपियों को 29 जून गिरफ्तार कर लिया था। गिरफ्तारी के बाद से ही आरोपी महिला को यरवदा केंद्रीय जेल में रखा था, जबकि तीनों आरोपियों को सुप्रीम कोर्ट से जमानत मिल गई थी। हालांकि, पुणे सेंशस कोर्ट से सजा सुनाए जाने के बाद तीनों आरोपियों को भी यरवजा जेल में भेज दिया गया है।

इन धाराओं के तहत दी गई सजा

अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश एसके करले ने चारों आरोपियों को आईपीसी और पोक्सो अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत दोषी पाया। अतिरिक्त सरकारी वकील राजेश कावेडिया ने बताया कि, इस केस में संशोधित आपराधिक कानून की धारा 376-डी को भी शामिल है, जो कि गैंगरेप से संबंधित है। यह कानून पुरुषों, महिलाओं और यहां तक ​​कि ट्रांसजेंडरों के साथ होने वाले यौन शोषण के लिए काम करता है।

छुट्टियां मनाने चाची के घर आई थी बच्ची

अभियोजन पक्ष ने कहा कि, साल 2016 में स्कूल से मिली गर्मी की छुटिटयों में बच्ची अपनी चाची के घर मुंढवा आई थी। इस दौरान 13 अप्रैल से 25 मई के बीच बच्ची की चाची उसे मुंडवा और खराड़ी स्थित अलग-अलग फ्लैटों पर ले गई थी। यहां बच्ची के सामने पहले चाची ने तीन पुरुषों के साथ संबंध बनाए, इसके बाद बच्ची को भी उन पुरुषों के साथ संबंध बनाने के लिए फोर्स किया।

महिला ने की बलात्कार की प्लानिंग

महिला ने अपने तीन साथियों के साथ मिलकर बच्ची के बलात्कार की पूरी प्लानिंग कर रखी थी 14 मई को आरोपी महिला बच्ची को पिंगले वस्ति स्थित अपने ससुर की फ्लैट पर ले गई थी। फ्लैट पर पहुंचते ही महिला ने पहले बच्ची को फर्श पर धकेल दिया, इसके बाद उसका मुंह बंद कर दिया। बच्ची का मुंह बंद करने के बाद दो लोगों ने उसके हाथ और पैर पकड़े, जबकि तीसरे शख्स ने बच्ची के साथ दुष्कर्म किया।

बच्ची ने सुनाई पूरी कहानी

सामुहिक दुष्कर्म के बाद महिला बच्ची को लेकर वापस अपने घर पहुंच गई। मौका मिलते ही बच्ची ने अपने साथ हुए बलात्कार की जानकारी चाची के माता-पिता को दी। घटना सुन हैरान आरोपी महिला के माता-पिता बच्ची को लेकर चंदन नगर पुलिस थाने पहुंचे और सामूहिक बलात्कार का मामला दर्ज कराया। इसके बाद बच्ची ने अपने साथ हुए गैंगरेप का खुलासा करते हुए मजिस्ट्रेट के सामने बयान दर्ज कराए थे, जिसके बाद सभी आरोपियों को हिरासत में लिया गया था।