मुंबई। एटीएम के बाहर धोखाधड़ी करने वाले एक आरोपी को महिला ने 17 दिन की कोशिशों के बाद आखिरकार पकड़ ही लिया। मामला मुंबई के बांद्रा क्षेत्र का है। जानकारी के अनुसार आरोपी ने मदद करने के बहाने चालाकि से महिला के डेबिट कार्ड की सारी डिटेल ले ली और खाते 10,000 रुपए निकाल लिए। आरोपी को सबक सीखाने के लिए महिला ने लगातार 17 दिनों तक एटीएम के चक्कर लगाए और आखिरकार उसे पकड़ ही लिया।

मदद के बहाने आरोपी ने ले ली सारी डिटेल

बांद्रा पुलिस स्टेशन से मिली जानकारी के अनुसार रेहाना शेख (35) रोजाना की तरह 18 दिसंबर को भी अपने दफ्तर के लिए निकली थी। इस दौरान पैसे निकालने के लिए वे बांद्रा स्टेशन के बाहर स्थित एक एटीएम पर रुकी। रेहाना ने कई बार प्रयास किया लेकिन वे पैसे नहीं निकाल पाई। आरोपी भूपेंद्र मिश्रा (36) पहले से ही एटीएम के बाहर खड़ा था, उसने रेहाना को परेशान देख मदद की पेशकश की। इस पर रेहाना ने अपना कार्ड उसे दे दिया। हालांकि भूपेंद्र की कोशिशों के बाद भी तकनीकी खामी की वजह से रेहाना के पैसे नहीं निकल पाए। लेकिन, इस बीच आरोपी रेहाना के कार्ड की सारी डिटेल ले चुका था।

ऑफिस पहुंची तो निकल चुके थे अकाउंट से रुपए

पैसे नहीं निकले तो रेहाना अपना कार्ड लेकर ऑफिस पहुंच गई। ऑफिस पहुंचते ही रेहाना को एक मैसेज मिला कि उनके खाते से 10,000 रुपए निकाले गए हैं। इस पर वडाला में रहने वाली रेहाना सारा मामला समझ गईं और उन्होंने आरोपी को पकड़ने के लिए प्लान बनाया। वे लगातार 17 दिनों तक अलग-अलग समय पर बांद्रा स्थित उसी एटीएम के आस-पास खड़े रहकर आरोपी का इंतजार करती रहीं।

रात 11.30 बजे रेहाना ने चोर को पकड़ ही लिया

पुलिस के अनुसार 4 जनवरी को रेहाना रात करीब 11.30 बजे बांद्रा स्थित उसी एटीएम पहुंची थी, जहां उनके साथ धोखाधड़ी की गई थी। उन्होंने देखा कि, आरोपी एटीम के बाहर खड़ा है। रेहाना ने फौरन आरोपी को पकड़ लिया इसके बाद पुलिस को कॉल करके मौके पर बुलाया। पुलिस जांच में पता चला कि, भूपेंद्र आदतन अपराधी है और उसके खिलाफ शहर के अलग-अलग थानों में धोखाधड़ी के कई मामले दर्ज है। आरोपी को जनवरी 2018 को क्राइम ब्रांच ने एटीएम पर लोगों के साथ धोखाधड़ी करने के आरोप में गिरफ्तार किया था। पुलिस पूछताछ में आरोपी ने अपना जुर्म कबूल कर लिया और इस तरह रेहाना एक शातिर चोर को पकड़ने में सफल रहीं।