नागपुर। ब्लू व्हेल और मोमो चैलेंज जैसे खतरनाक ऑनलाइन गेम्स ने दुनियाभर में कई टीनेजर्स की जान ले ली थी। पिछले कुछ समय से इन गेम्स को लेकर जरूर सब कुछ शांत था लेकिन अब इसी बीच एक खबर आई है कि ऑनलाइन गेम्स के चक्कर में 17 साल की एक टीनेजर ने अपनी जान ले ली।

नागपुर के नरेंद्र नगर की रहने वाली 17 साल की मानसी जोनवाल ने मंगलवार शाम 7.30 बजे अपने घर में दुपट्टे से पंखे पर लटककर जान दे दी। मानसी के पिता अशोक जोनवाल पैसिफिक हर्ब्स एग्रो फार्म्स के डायरेक्टर हैं। वह अपने माता-पिता की एकलौती संतान थी। मानसी ने एचएसएससी एग्जाम 75 प्रतिशत अंकों से पास की थी। मानसी को सेंट्रलाइज्ड एडमिशन प्रोसेस के बारे में जानकारी नहीं थी, तो उसे अपनी पसंद का कॉलेज नहीं मिला। उसने एक साल का गेप लिया। अपने घर पर बिल्ली के बच्चों के साथ खेलते हुए समय बिताती थी। अधिकांश समय उसके पेरेंट्स उसे स्मार्टफोन पर गेम्स खेलने देते थे।

जोनवाल परिवार के करीबी व्यक्तियों के मुताबिक मानसी खुद को फांसी लगाने से पहले अपने हाथ पर काटकर लिखा था 'Cut Her to Exit'। उनका मानना है कि उसने यह अपने हाथ पर इसलिए काटा क्योंकि उसने ब्लू व्हेल चैलेंज और मोमो चैलेंज जैसे खतरनाक ऑनलाइन गेम्स खेल रही थी और उसके जानलेवा टास्क करते हुए अपनी जिंदगी खत्म कर ली।