मुंबई। अस्पताल के नाम से ही लोगों को डर लगता है उसमें भी कोई डॉक्टर आपको बुरी खबर दे दे तो ना सिर्फ आपकी बल्कि परिवार के लोगों की भी नींद उड़ जाती है। मुंबई में भी ऐसा ही एक मामला सामने आया है लेकिन इस कहानी में ट्विस्ट यह है कि यह बुरी खबर 24 घंटे में अस्पताल को 60 हजार रुपए का फटका लगा गई।

दरअसल, मामला दो साल पुराना है जब मुलुंड के रहने वाले एक 72 साल के वृद्ध को परिवार वाले अस्पताल लेकर पहुंचे। अस्पताल में भर्ती किए जाने के बाद परिजनों को डॉक्टरों ने यह कह दिया कि बुजूर्ग सदस्य केवल 24 घंटे के मेहमान हैं। यह सुनते ही परिवार में दुख की लहर दौड़ गई। डॉक्टरों ने परिजनों को बताया कि 72 साल के बच्चू राव की आंत कट गई है और उनके पास कुछ ही समय बचा है।

इसके बाद परिजन उन्हें दूसरे अस्पताल ले गए जहां दोबारा हुई जांच में सच सामने आया। जांच में उनके पेट में अल्सर ही पाए गए। डॉक्टरों और अस्पताल की इस लापरवाही के खिलाफ बच्चू के परिजन जिला उपभोक्ता शिकायत निवारण केंद्र पहुंचे और अस्पताल के अलावा जांच करने वाले सेंटर के खिलाफ शिकायत दर्ज करवाई।

सुनवाई में उपभोक्ता केंद्र ने अस्पताल और जांच सेंटर को लापरवाही का दोषी माना और जांच के 51 हजार रुपए 9 प्रतिशत ब्याज के साथ देने के आदेश दिए।

यह था मामला

परिजनों ने बाताया कि बच्चू के मुंह से खून आ रहा था और उनके फैमिली डॉक्टर ने पेप्टिक अल्सर बताया। इसके बाद बच्चू को अस्पताल ले गए जहां जांच के बाद डॉक्टरों ने पेट में कट की बात कही और उनके पास कुछ ही घंटे बचे हैं। इसके बाद परिवार में रोना-पीटना मच गया।