मुंबई। अगर आपने किसी प्रतिष्ठित शॉपिंग साइट से कोई मोबाइल ऑर्डर किया हो लेकिन उस पार्सल में साबुन या फिर पत्थर आ जाए तो आपका दिमाग ही घूम जाएगा। इन सब गड़बड़ करने वालों का एक गैंग होता है।

हाल ही में ठाणे क्राइम ब्रांच के भिवंड़ी यूनिट ने चार लोगों को गिरफ्तार किया है। गैंग के इन सदस्यों ने 57 हाई-एंड मोबाइल फोन चुराए हैं। पुलिस तलाश कर रही है कि कहीं वे किसी रैकेट से जुड़े तो नहीं है।

पुलिस का कहना है कि अपराधियों की तलाश उमेश गुलावी, सचिन पताले, संदीप सराफ और मकबूल रफीक के रूप में हुई है। 22 साल का उमेश एक कुरियर कंपनी में डिलीवरी बॉय का काम करता था जहां मकबूल ड्राइवर था। सचिन और संदीप एक ऑनलाइन शॉपिंग साइट के पूर्व कर्मचारी थे।

इन चारों की गिरफ्तारी तब हुई जब कुरियर कंपनी के कर्मचारी मंगेश मोहिते ने नारपोली में एक शिकायत दर्ज कराई थी। मोहिते का आरोप है कि 24.43 लाख रुपए के 267 मोबाइल फोन चुराए थे।

हालांकि पुलिस को 7.95 लाख रुपए की कीमत के 57 सेट्स, 74,679 रुपए के तीन लेपटॉप्स और 1 लाख रुपए की कीमत की कार बरामद हुई।

सीनियर इंस्पेक्टर एस. राउत ने कहा, 'आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया और उन्हें 17 फरवरी तक पुलिस कस्टडी में रखा गया है।'