मुंबई का एक शख्स अपने माता-पिता पर उसकी इजाजत के बिना दुनिया में लाने के लिए मुकदमा कर रहा है। रिपोर्ट्स और फेसबुक पोस्ट के अनुसार, राफेल सैमुअल नाम का 27 साल का एक शख्स अपने माता-पिता के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने की योजना बना रहा है।

दिलचस्प बात यह है कि राफेल को अपने माता-पिता से कोई परेशानी नहीं है। उसके अपने माता-पिता से अच्छे रिश्ते हैं। लेकिन उन्होंने मुझे अपने स्वार्थ और खुशी के लिए पैदा किया है। राफेल सैमुअल ने ये भी कहा कि उनकी जिंदगी बेहतरीन रही है, लेकिन मुझे ये समझ नहीं आता कि मैं एक और जिंदगी को स्कूल, करियर के झमेले में क्यों बिताऊं। खासकर तब जब उसने ऐसी जिंदगी की कामना ही नहीं की है।

राफेल ने अपने फेसबुक पेज Nihilanand पर एंटी नेटलिज्म विरोधी प्रचार किया। इस पेज को 1400 लोग फॉलो करते हैं। वह इसी के समर्थक हैं। एंटीनेटलिज्म एक दार्शनिक स्थिति है जो जन्म के लिए एक नकारात्मक मूल्य प्रदान करती है। उनका ऐसा मानना होता है कि बच्चे पैदा करने का मतलब होता है किसी की इच्छा के विरुद्ध उस पर जिंदगी थोपना। उनका मानना है कि इंसान इस धरती पर एक विनाशकारी शक्ति है और इसे पैदा करना गलत है। वे बच्चों की तुलना 'दासता' और 'अपहरण' से करते हैं।