मुंबई। मुंबई एयरपोर्ट ने घरेलू यात्रियों के लिए एक नई सुविधा की शुरुआत की है। प्रौद्योगिकी आधारित डिजी यात्रा नामक इस पहल के तहत टर्मिनल-2 से चलने वाली सभी घरेलू उड़ानों के यात्रियों को अब बोर्डिंग पास पर मुहर लगवाने के झंझट से नहीं जूझना पड़ेगा। यह जानकारी सोमवार को एक अधिकारी ने दी।

इस सुविधा की शुरुआत के साथ ही मुंबई का छत्रपति शिवाजी महाराज अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा देश का पहला ऐसा एयरपोर्ट बन गया है, जिसने नागरिक उड्डयन सुरक्षा ब्यूरो (बीसीएएस) द्वारा प्रस्तावित नवीनतम तकनीक को लागू किया है।

टर्मिनल-2 से उड़ान भरने वाले घरेलू यात्री अब अपने मोबाइल फोन के माध्यम से ई-गेट रीडर पर बोर्डिंग पास बारकोड या क्यूआर कोड को स्कैन करके अपने बोर्डिंग पास को प्रमाणित कर सकते हैं। इससे जहां यात्रियों को सीआइएसएफ जवानों द्वारा बोर्डिंग पास लगाई जाने वाली मुहर के झंझट से छुटकारा मिलेगा वहीं वे यात्रा के नए अनुभव से रूबरू हो सकेंगे।