मुंबई। पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दाम से कोई परेशानी नहीं होने की बात कहने वाले केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने अपने बयान पर अफसोस जाहिर किया है।

उन्होंने कहा कि जनता की भावनाएं आहत करने का मेरा कोई इरादा नहीं था और मैं माफी मांगता हूं। समाज कल्याण एवं अधिकारिता मंत्री रामदास अठावले ने शनिवार को जयपुर में पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों पर कहा था कि वह

मंत्री हैं और उन्हें मुफ्त में पेट्रोल-डीजल मिलता है, इसलिए उन्हें महंगे तेल से कोई परेशानी नहीं होती। इस बयान पर विवाद होने केबाद अठावले ने स्पष्टीकरण दिया।

उन्होंने कहा, मैं एक आम आदमी हूं, जो मंत्री बन गया है। जनता को क्या समस्याएं होती हैं, मैं जानता हूं। मैं सरकार का हिस्सा हूं और मैं मांग करता हूं कि पेट्रोल-डीजल की कीमतें कम होनी चाहिए।

बयान के विवादित हिस्से पर मंत्री ने कहा कि पत्रकारों ने मुझसे सवाल किया था कि तेल के दाम बढ़ रहे हैं, आपको इससे कोई समस्या है?

जवाब में मैंने कहा था कि मुझे कोई समस्या नहीं है, क्योंकि मैं मंत्री हूं और हमें सरकारी वाहन मिलते हैं, लेकिन जनता को परेशानी का सामना करना पड़ता है, इसलिए तेल के दाम में कमी आनी चाहिए।