मेरठ। गाजियाबाद स्थित एक मंदिर के पुजारी की 15 वर्षीय बेटी का 26 दिसंबर को अपहरण कर लिया गया था। लड़की के साथ गैंगरेप कर उसकी हत्या कर दी गई। लड़की का क्षत-विक्षत शव शुक्रवार को मेरठ के परतापुर इलाके के अहेड़ा गांव में गन्ने के खेत में पड़ा मिला। उसके शव पर सिरगेट के टुकड़ों के साथ बर्बरता के निशान मिले हैं।

बताया जा रहा है कि दसवीं कक्षा की छात्रा की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई। छात्रा के कपड़े अस्त-व्यस्त मिले हैं। मामले में लापरवाही बरतने पर मोदीनगर थाने के एसएचओ को लाइन हाजिर कर दिया गया है, जबकि सीओ का तबादला कर दिया गया है।

मृतका की पहचान 15 वर्षीय नीलम पुत्री यशपाल शर्मा कर रूप में हुई। यशपाल मोदीनगर में शिव चौक पर स्थित मंदिर के पुजारी हैं। वह मथुरा में सुरीर थाना क्षेत्र के इरौली जुन्नारदार के रहने वाले हैं। वह बीते 15 साल से मोदी नगर में रह रहे हैं।

बताया जा रहा है कि 26 दिसंबर को छात्रा कॉलेज जाने के बाद लापता हो गई थी। परिजनों ने अज्ञात के खिलाफ पुत्री के अपहरण का मुकदमा 27 दिसंबर को मोदीनगर थाने में दर्ज कराया था। लड़की के पिता के मुताबिक, शिकायत दर्ज करने के बाद पुलिस ने इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं की।

यह भी पढ़ेंः 1 जून से शुरू होगी 2021 की जनगणना, जानें कुछ रोचक बातें

उन्होंने बताया कि कुछ लड़कों ने मेरी बेटी को अगवा कर लिया। मैंने इसकी शिकायत मोदीनगर पुलिस स्टेशन में दर्ज कराई। इसके साथ ही मैंने अगवा करने वालों में से एक लड़के का मोबाइल नंबर भी दिया, लेकिन पुलिस ने उनका पता लगाने की कोशिश नहीं की।

गाजियाबाद पुलिस ने बताया कि मेरठ पुलिस ने लड़की की बॉडी को पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। इस मामले की जांच के लिए कई टीमों का गठन किया गया है। हम जल्द ही मामले की जांच पूरी कर लेंगे। लड़की के घर के पास तनाव देखते हुए मोदी नगर के कृष्णा नगर में भारी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है।