मेरठ। मेरठ के मिल्कापुर गांव में एक रोंगटे खड़े कर देने वाली घटना हुई। दिवाली सेलिब्रेशन के दौरान तीन साल की एक बच्ची के मुंह के अंदर पटाखा फटा जिसके कारण वह गंभीर रूप घायल हो गई। बच्ची को तुरंत अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टर ने उसके जबड़े को एक साथ बांधे रखने के लिए 30 टांके लगाए। बच्ची का इलाज कर रहे डॉक्टर के मुताबिक बच्ची की हालत गंभीर है।

बच्ची के परिवार ने 42 साल के पड़ोसी के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई है जो कि कथित रूप से बच्ची बच्ची को बहला-फुसलाकर ले गया और पटाखे को जलाने से पहले उसके मुंह के अंदर भर दिए।

बच्ची के पिता शशि पाल के मुताबिक यह घटना हुई तब उनकी बच्ची घर के बाहर खेल रही थी। उसे तुरंत ही अस्तपाल ले जाया गया जहां उसे मुंह में 30 टांके लगाए गए। हालांकि पुलिस के मुताबिक यह एक दुर्घटना थी। सरधान पुलिस स्टेशन के प्रशांत कपिल ने कहा कि प्रारंभिक जांच में खुलासा हुआ है कि यह एक दुर्घटना थी। हरपाल सिंह ने पटाखा जलाया लेकिन वह जला नहीं। इतने में बच्ची ने उस पटाखे को उठाकर मुंह में रख लिया। ऐसा कोई सबूत अभी नहीं मिला है कि पटाखा जबर्दस्ती रखा गया है। चूंकि बच्ची के परिवार ने आरोप लगाए हैं तो हरपाल सिंह के खिलाफ एफआईआर रजिस्टर्ड की गई है।

पुलिस के मुताबिक हरपाल और बच्ची के पिता के बीच प्रॉपर्टी का विवाद है। हालांकि अभी हरपाल को गिरफ्तार करना बाकी है।

वहीं इलाज कर रहे डॉक्टर के मुताबिक बच्ची को मुंह में कई चोटें आई हैं। उसकी जुबान भी डैमेज हुई है। अभी हमने सर्जरी की है।