नई दिल्ली। पाकिस्तान के लड़ाकू विमान एफ-16 को मार गिराने वाले विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान अपनी श्रीनगर स्थित यूनिट 51 स्कॉवड्रन लौट चुके हैं।

मगर उनके साथियों द्वारा उनकी बहादुरी की तारीफ की जा रही है। इसी बीच जानकारी सामने आई है कि भारतीय वायु सेना ने अभिनंदन के साथ पूरी यूनिट को एक नया नाम और पैच (यूनिफॉर्म पर लगाया जाने वाला खास कपड़े का पैच ) दिया है।

इस पैच की खासियत यह है कि इस पर पाकिस्तान के उस मिग - 21 विमान का उल्लेख है जिसे भारतीय वायु सेना के विमानों ने मार गिराया। ये पैच यूनिट के सभी मिग-21 बायसन फाइटर जेट उड़ाने वाले पायलटों द्वारा उड़ान के वक्त पहनी जाने वाले जी-सूट (खास तरह का यूनिफॉर्म) पर लगाया जाएगा।

पुलवामा आतंकी हमले (Pulwama Terror Attack) के बाद भारत-पाकिस्तान के बीच बनी युद्ध जैसी स्थिति के बीच भारतीय वायु सेना के जांबाज विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान वार हीरो बनकर उभरे।

उनकी बहादुरी के चर्चे केवल भारत में ही नहीं, बल्कि सीमा पार भी हुई। अब भारतीय वायु सेना ने पाकिस्तान वायु सेना के खिलाफ दिखाई गई उनकी बहादुरी को सम्मान करने का एक अनोखा और एकदम नया तरीका निकाला है।

विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान की श्रीनगर स्थित यूनिट 51 स्कॉवड्रन अब यूनिफॉर्म (वर्दी) पर एक खास तरह के पैच लगाएगी। ये पैच यूनिट के सभी मिग-21 बायसन फाइटर जेट उड़ाने वाले पायलटों द्वारा उड़ान के वक्त पहनी जाने वाले जी-सूट (खास तरह का यूनिफॉर्म) पर लगाया जाएगा। पैच काफी आकर्षक है। इसमें पाकिस्तान के उ

वायु सेना में विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान की श्रीनगर स्थित यूनिट 51 स्कॉवड्रन अब यूनिफॉर्म (वर्दी) पर एक खास तरह के पैच लगाएगी। ये पैच यूनिट के सभी मिग-21 बायसन फाइटर जेट उड़ाने वाले पायलटों द्वारा उड़ान के वक्त पहनी जाने वाले जी-सूट (खास तरह का यूनिफॉर्म) पर लगाया जाएगा। ये पैच उनकी यूनिट के प्रत्येक जवान की वर्दी पर विंग कमांडर वर्तमान का अभिनंदन करेगा।

साथ ही उनका विंग को फाल्कन फाल्कन सेल्यर्स (Falcon Slayer) के नाम से जाना जाएगा। गौरतलब है कि पाकिस्तान के एफ - 16 विमानों को फाल्कन के नाम से भी जाना जाता है। इस विंग को एम राम डोजर्स के नाम से भी जाना जाएगा। F-16 विमानों का जब भारतीय वायु सेना के मिग-21 और सुखोई फाइटर जेट्स से सामना हुआ तो बचाव में पाकिस्तानी पायलटों को अमेरिका में बनी अत्याधुनिक एमराम मिसाइलें दागनी पड़ीं थीं। हालांकि, भारतीय पायलटों ने इन मिसाइलों को डोज (चकमा) दे दिया था। इसलिए नए पैच पर एमराम डोजर्स भी लिखा गया है।