नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के बीच बॉलीवुड स्टार अक्षय कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का इंटरव्यू लिया। इस गैर-राजनीतिक इंटरव्यू में प्रधानमंत्री ने अपनी निजी जिंदगी से जुड़े कई रोचक खुलासे किए हैं। अक्षय कुमार ने जब पीएम से पूछा कि वे अपने परिवार वालों से ज्यादा मिलते-जुलते क्यों नहीं हैं, तो मोदी ने जवाब दिया कि उन्होंने बहुत पहले यह सब छोड़ दिया था। मैंने बहुत छोटी उम्र में घर छोड़ दिया था और इसलिए लगाव, मोहमाया, यह सब मेरी ट्रैनिग के कारण छूट गया। अगर मैं प्रधानमंत्री बनकर घर से निकला होता, तो मेरा मन रहता कि सब वहीं रहे। बकौल मोदी, प्रधानमंत्री बनने के बाद मैंने अपनी मां को कुछ दिन के लिए बुला लिया था, लेकिन समय नहीं मिल पाया कि उनके साथ ज्यादा वक्त गुजार सकूं। रात में 12 बजे घर लौटता तो वे भी परेशान होतीं। तब उन्होंने मुझसे कहा था कि तू मेरे पीछे अपना समय बर्बाद मत कर।

अक्षय ने पीएम मोदी से पूछा कि क्या वे अपनी मां को अब भी पैसा भेजते हैं, तो उन्होंने बताया कि जब भी वे मां से मिलते हैं, उल्टा मां उन्हें पैसे देती हैं। मां यह राशि आशीर्वाद स्वरूप देती हैं।

इंटरव्यू के दौरान पूछा गया कि क्या मोदी ने कभी सोचा था कि वे पीएम बनेंगे, तो वे बोले - कभी मेरे मन में प्रधानमंत्री बनने का विचार नहीं आया और सामान्य लोगों के मन में ये विचार आता भी नहीं हैं और मेरा जो फैमिली बैकग्राउंड हैं उसमें मुझे कोई छोटी नौकरी मिल जाती तो मेरी मां उसी में पूरे गाओं को गुड़ खिला देती।बचपन में मेरा स्वाभाव था किताबें पढ़ना, बड़े बड़े लोगों का जीवन पढ़ता था। कभी फौज वाले निकलते थे तो बच्चों की तरह खड़ा होकर उन्हें सेल्यूट करता था।

बकौल मोदी, महज 3.30 घंटे सोना उनकी आदत में आ गया है। कई लोग कहते हैं कि मैं सोने के घंटे बढ़ाऊं। पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा जब भी मिलते हैं तो यही पूछते हैं कि मैंने ज्यादा सोना शुरू किया या नहीं।लेकिन अब मेरा शरीर इसका अदी हो गया है। 3.30 घंटे सोने के बाद नींद खुलती है और मैं बिस्तर छोड़ देता हूं।