अमृतसर। पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI के लिए जासूसी करने के आरोप में पुलिस ने सेना के एक और जवान को गिरफ्तार किया है। पकड़ा गया प्रिसदीप सिंह पहले गिरफ्त में आए मलकीयत सिंह की तरह ही जम्मू-कश्मीर में छठी राष्ट्रीय राइफल्स में तैनात था। पुलिस ने आरोपी के कब्जे से कुछ नक्शे और मोबाइल जब्त कर केस दर्ज कर लिया है।

DSP अरुण शर्मा ने बताया कि आरोपी से मिले मोबाइल पर फेसबुक से ISI के कई एजेंटों के साथ बातचीत होने की पुष्टि हुई है। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है। कोर्ट ने आरोपी को पांच दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा है। जानकारी के मुताबिक कुछ दिन पहले पुलिस ने घरिडा के मुहावा गांव निवासी और छठी राष्ट्रीय राइफल्स के सिपाही मलकीयत सिंह को जासूसी के आरोप में गिरफ्तार किया था। पूछताछ के बाद पुलिस ने गज्जन सिंह नाम के तस्कर को गिरफ्तार कर लिया।

तीसरी कड़ी की पूछताछ में आरोपी ने बताया कि देश विरोधी गतिविधियों में उसके साथ उसी के तैनाती स्थल (राष्ट्रीय राइफल्स) में प्रिसदीप नाम का सिपाही भी शामिल है। आरोपी मलकीयत सिंह से पुलिस को पता चला कि प्रिसदीप सिंह भी छुट्टी लेकर अपने घर पहुंच चुका है और ISI को सेना के कुछ खुफिया दस्तावेज सौंपने वाला है।

कार्रवाई करते हुए पुलिस ने प्रिसदीप सिंह को भी धर लिया। DSP अरुण शर्मा ने बताया कि आरोपी अपने फेसबुक अकाउंट से पाकिस्तान के कई तस्करों और ISI एजेंटों के संपर्क में था। फिलहाल पुलिस आरोपित के सभी पहलुओं को खंगाल रही है।

पिछले कुछ दिनो में ये दूसरा मामला सामने आया है जब सेना से जुड़े जवान को पाकिस्तान को खुफिया जानकारियां भेजने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। हाल ही में हनी ट्रैप में उलझे महू में पदस्थ सेना के एक क्लर्क को पाकिस्तानी महिला को गोपनीय सूचनाएं भेजने के मामले में हिरासत में लिया गया है।