मल्टीमीडिया डेस्क। योग गुरू बाबा रामदेव ने एफएमसीजी, डेयरी और आर्युवेदिक उत्पादों के बाद अब रेडीमेड गारमेंट में कदम रख दिया है। उन्होंने परिधान के नाम से अपने कपड़ों के रिटेल स्टोर खोलने की शुरुआत कर दी है। दिल्ली में शोरूम का उद्धाटन खुद बाबा रामदेव ने किया।

दिल्ली के नेताजी सुभाष प्लेस में आयोजित उद्घाटन समारोह में बाबा रामदेव के साथ अन्य शख्सियतों के साथ पहलवान सुशील कुमार और फिल्म निर्माता मधुर भंडारकर भी मौजूद रहे। रामदेव ने बताया कि दिसंबर देशभर में करीब 25 नए स्टोर खुल जाएंगे। यहां भारतीय परिधानों के साथ-साथ पश्चिमी पोशाक, एक्ससरीज और आभूषण भी मिलेंगे।

पतंजलि ट्रेडमार्क की जींस से लेकर के कपड़ों की पूरी वैरायटी इन स्टोर्स में मिलेगी। बाबा रामदेव ने अपने परिधान स्टोर की शुरूआत दिल्ली के पीतमपुरा से की है। इस स्टोर में तीन हजार तरह के कपड़ों की वैरायटी लेकर के आए हैं। इसमें बच्चों, महिलाओं और पुरुषों के परिधान, योगा वेयर, फेंसी ड्रेस आदि मिलेंगे।

रामदेव के प्रवक्ता एस के तिजारावाला ने कहा कि कपड़े भारतीय शैली को ध्यान में रखकर बनाए जाएंगे और यह पूरी तरह से स्वदेशी हैं। उन्होंने कहा कि अगर हमारे देश में फैब इंडिया जैसी विदेशी कंपनियां खादी प्रॉडक्ट्स बेच रही हैं, तो यह महात्मा गांधी और उनकी राजनीतिक विचारधारा की हत्या है।

पतंजलि की कपड़ा सेक्टर के लिए बड़ी योजनाएं हैं। बाबा रामदेव की 'खादी' के उत्पादन में बड़े स्तर पर उतरने की योजना है। बाबा रामदेव का कहना है कि वो विदेशी कंपनियों को भारत से भगाना चाहते हैं। पतंजलि का प्रोजेक्ट वो हर प्रोडक्ट बनाने का है जिसे विदेशी कंपनियां भारत में धड़ल्ले से बेच रही हैं।

मेड इन इंडिया के उद्देश्य से प्रोडक्ट्स बनाने में लगे बाब रामदेव पहले से ही भारतीय मार्केट में छाए हुए हैं। बाबा रामदेव ने जब से पतंजलि को शुरू किया है, तब से उनका फोकस टीवी और अखबार में विज्ञापन देने का रहा है। लेकिन अब ऑनलाइन पर भी कंपनी ने अपना फोकस शुरू कर दिया है।