नई दिल्ली। राफेल को लेकर भाजपा और कांग्रेस आमने-सामने है। गुरुवार को राहुल गांधी द्वारा लगाए गए आरोपों पर पलटवार करते हुए भाजपा ने राहुल गांधी पर निशाना साधा है। भाजपा नेता और केंद्रीय मंत्री पीयुष गोयल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा कि एक झूठ को 100 बार बोलने से वो सच नहीं हो जाता।

गोयल ने इस दौरान राहुल गांधी पर झूठ बोलेने का आरोप लगाते हुए उनके 6 झूठ भी गिनाए। उन्होंने कहा कि हमारे सामने पूरी तरह से साफ स्थिति है कि नेशनल इंटरेस्ट और सुरक्षा सर्वोच्च है, सरकार ने जरूरी रक्षा सौदे को तेज करने का फैसला किया। एक के बाद एक झूठ बोलते रहने से सच्चाई बदलेगी नहीं। झूठ 100 बार बोला जाए तो सच नहीं होता। कांग्रेस एक बिना मुद्दे की पार्टी है और उनका नेतृत्व आधारभूत सच को समझ नहीं सकती, संभवतः अपनी गलतियां छुपाने की कोशिश कर रहे हैं।

उन्होंने आगे कहा कि सुप्रीम कोर्ट ने भी देश के लिए संवेदनशील मानते हुए विमान की कीमत और तकनीकी जानकारी नहीं मांगी है।

कांग्रेस के झूठी पार्टी करार देते हुए गोयल बोले कि राहुल ने संसद में कहा था कि वो खुद फ्रांस के राष्ट्रपति से मिले और राफेल डील पर बात की। उनके दावे का खोखलापन यहीं साबित होता है क्योंकि 2008 में मनमोहन सिंह ने ही यह सिक्रेट पैक्ट साइन किया था।

उन्होंने कहा कि राहुल ने पहला झूठ बोलते हुए फ्रांस के मीडिया की रिपोर्ट को बदलकर पेश किया। यह बात खुद डसॉल्ट के सीईओ कह चुके हैं तथ्यों में बदलाव किया गया।

दूसरा सर्वोच्च न्यायालय के फैसले पर कहा जबकि न्यायालय ने इस डील की देश के लिए संवेदनशील जानकारी को देखते हुए विमानों की कीमत और तकनीकी जानकारी नहीं मांगी।

रक्षा मंत्रालय में अधिकारी को सजा दिए जाने का आरोप भी झूठा निकला वहीं उनका चौथा आरोप भी झूठा था। उनका पांचवां झूठ था कि पूर्व फ्रांसीसी राष्ट्रपति ने हमारे प्रधानमंत्री को चोर कहा। यह बेदह शर्मनाक है।