भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के चंद्रयान-2 की लॉन्चिंग तय समय से पहले तकनीकी कारणों से रोक दी गई है।

श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्‍पेस सेंटर से यान की लॉन्चिंग तय समय रात 2.51 बजे से होना थी। लेकिन लॉन्‍च के वेहिकल सिस्‍टम में तकनीकी खामी देखी गई। इसके चलते फिलहाल लॉन्चिंग को स्‍थगित कर दिया गया है।

अब लॉन्‍च की नई तारीख की घोषणा बाद में की जाएगी। इसके पहले चंद्रयान-2 का काउंटडाउन शुरू हो गया था। इंजन में लिक्विड ऑक्सीजन और लिक्विड हाइड्रोजन भी भर दिया गया था।

रात 2.51 बजे इसे आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्पेस सेंटर से छोड़ा जाना था। अंतरिक्ष वैज्ञानिक गौहर रजा ने कहा है कि यह वैज्ञानिक फैसला है, इसमें निराश होने की कोई जरूरत नहीं है।

यान में यदि ईधन का लीकेज हो रहा है तो उसे दुरस्त करना होगा। एक माह तक यान में ईधन को भर कर नहीं रखा जा सकता है।

ISRO ने लिया सही फैसला

वैज्ञानिकों का कहना है कि ISRO ने सही समय पर उपयुक्त फैसला किया है। ISRO ने अभी औपचारिक बयान दिया है। वह जल्द ही विस्तृत बयान जारी कर खराबी के बारे में जानकारी देगा। चूंकि संसद का सत्र चल रहा है, इसलिए सरकार की ओर से भी सोमवार को विधिवत बयान देकर देश को मिशन टालने की जानकारी दी जा सकती है।

लांच व्हीकल में खराबी : ISRO

इसरो के वैज्ञानिक ने रात 2.40 बजे संक्षिप्त बयान जारी कर कहा कि चंद्रयान-2 के लांच व्हीकल जीएसएली मार्क-3 के सिस्टम में खराबी के कारण सोमवार तड़के उड़ान को रोका गया है। अगली तारीख जल्द घोषित किया जाएगा।