नई दिल्ली। बंगाल की खाड़ी में उठे चक्रवाती तूफान फेनी के और भी गंभीर चक्रवाती तूफान बनने की संभवना है। इसके बाद मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है और मछुआरों को समुद्र से दूर रहने के लिए कहा है। मौसम विभाग द्वारा जारी की गई चेतावनी के अनुसार अगले 6 घंटे में फेनी गंभीर गंभीर चक्रवाती तूफान में तब्दिल हो सकता है। वहीं अगले 24 घंटे में गंभीर से बेहद गंभीर तूफान में बदल सकता है।

अपने अलर्ट में मौसम विभाग ने कहा है कि चक्रवात फेनी की वजह से 29 और 30 अप्रैल को केरल और इसके आसपास के इलाके में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। वहीं तमिलनाडु के उत्तरी तट और आंध्र प्रदेश के दक्षिणी तट पर भी हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। वहीं बंगाल की खाड़ी के ऊपर 30 तारीख तक हवा की रफ्तार 100 से 140 किमी प्रति घंटे तक बढ़ सकती है।

विभाग के अनुसार चक्रवाती तूफान के कारण तमिलनाडु में 30 अप्रैल से बारिश होगी। अगले 28 घंटों में हिंद महासागर के भूमध्य रेखीय इलाके व उससे जुड़ी बंगाल की खाड़ी के क्षेत्रों में बना कम दबाव का क्षेत्र तीव्र होकर दबाव क्षेत्र और चक्रवाती तूफान में तब्दील हो जाएगा।

तूफान उत्तरी तमिलनाडु तट से गुजर कर उत्तर-पश्चिमी दिशा में श्रीलंका की ओर बढ़ जाएगा। विभाग का कहना है कि इसके प्रभाव से 30 अप्रैल व 1 मई को तमिलनाडु के अधिकांश हिस्सों में बारिश होगी और कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है।

विभाग ने अपने अलर्ट में मधुआरों को आज से अगले दो दिन समुद्र से दूर रहने की हिदायद दी है। साथ ही जो मछुआरे पहले से ही समुद्र में हैं उन्हें लौट आने के लिए कहा गया है। मौसम विभाग ने कहा है बंगाल की खाड़ी, श्रीलंका, पुडुचेरी, तमिलनाडु समेत चक्रवात के रास्ते में आने वाले सभी समुद्री इलाकों से मछुआरों को दूर रहने के लिए कहा है।