देहरादून। आयकर विभाग ने उत्तराखंड में उन खातों को चिन्हित कर लिया है, जिनमें नोटबंदी के दौरान कालाधन जमा किया गया है। ऐसे खातों की संख्या करीब 400 है और इन सभी में पुराने नोटों के रूप में 20 लाख रुपये से अधिक की राशि जमा कराई गई है। मुख्य आयकर आयुक्त प्रमोद कुमार गुप्ता के अनुसार आयकर विभाग ने उत्तराखंड में 4100 ऐसे खातों का ब्योरा खंगाला, जिनमें नोटबंदी के दौरान सामान्य से अधिक 1000 व 500 रुपये के पुराने नोट जमा कराए गए।

इसके साथ ही विभाग ने ऐसे खातों की जांच की, जिनमें 20 लाख रुपये से ऊपर की राशि जमा कराई गई। लंबी जांच-पड़ताल के बाद करीब 400 खाते ऐसे मिले, जिनको लेकर यह कहा जा सकता है कि इनमें कालाधन (अघोषित आय) जमा कराया गया है। इन खाताधारकों की सबसे बड़ी बात यह पकड़ में आई कि खातों में पुराने नोटों के रूप में बड़ी राशि जमा कराने के बाद भी रिटर्न महज एक, दो या तीन-चार लाख रुपये का भरा था।

रिटर्न और जमा कराई गई राशि में बड़ा अंतर मिलने के बाद यह स्पष्ट होने लगा कि मामला कालाधन से जुड़ा है। ऐसे खाताधारकों के पुराने वर्षों के रिटर्न की भी जांच की गई। हर बार का रिटर्न जमा कराई गई रकम से मेल नहीं खा रहा था। मुख्य आयकर आयुक्त के अनुसार कुछ खाताधारकों पर कार्रवाई कर अघोषित आय जमा भी कराई जा चुकी है।