भुवनेश्वर। फणि चक्रवात के चलते देशभर के प्रभावित तटीय क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर संपत्ति का नुकसान हुआ है। ओडिशा में नुकसान का आंकडा करीब 11942.68 करोड़ रुपये तक आंका गया है। एक ओर जहां बिजली और टेलीकॅाम सेवाऐं प्रभावित हुईं। कई लोगों का व्यवसाय तक इससे प्रभावित हुआ है।

हालांकि केंद्र सरकार ने लोगों को जीविका उपलब्ध करवाने का आश्वासन दिया। इस मामले में विशेष राहत आयुक्त विष्णुपद सेठी ने कहा कि 15 मई के बाद से घर-घर का सर्वे किया जाएगा।

इसके बाद वास्तविक नुकसान का आंकलन हो पाएगा। महीने के अंत तक नुकसान की विस्तृत रिपोर्ट केंद्र सरकार को दे दी जाएगी।

दूसरी ओर केंद्रीय गृह मंत्रालय के अतिरिक्त सचिव विवेक भरद्वाज के नेतृत्व में दल ने प्रभावित इलाकों का दौरा किया। दल के सदस्य तीन दिनों तक ओडिशा, पुरी, कटक, खुर्दा जिलों का दौरा कर नुकसान का आंकलन किया।

दल ने स्थिति की समीक्षा की। जिसकी रिपोर्ट केंद्र सरकार को सौंपी जाएगी। उल्लेखनीय है कि फणि चक्रवात के चलते समुद्री क्षेत्र के निवासियों का जनजीवन प्रभावित हुआ था। कुछ मछुआरों को राहत कार्य के माध्यम से सुरक्षित स्थानों तक पहुंचाया गया था।