हजारीबाग। लेवी वसूलने की मंशा से दहशत फैलाने के लिए दोनईकला (हजारीबाग, झारखंड) स्थित क्रशर प्लांट में आग लगा रहे टीएसपीसी (तृतीय सम्मेलन प्रस्तुति कमेटी) के उग्रवादियों की गुरुवार रात पुलिस से मुठभेड़ हो गई। इस मुठभेड़ में पुलिस और सीआरपीएफ 22 बटालियन के जवानों ने दो उग्रवादियों को मार गिराया।

सुरक्षा बलों को भारी पड़ता देख तीन उग्रवादी अंधेरे का फायदा उठाकर भाग निकले। बताया जाता है कि फरार हुए तीनों उग्रवादियों को भी गोली लगी है। मारे गए उग्रवादियों की पहचान नहीं हो सकी है। मुठभेड़ के पहले उग्रवादियों ने क्रशर के मुंशी व मजदूरों के साथ मारपीट की। एसपी अनूप बिरथरे को मिली गुप्त सूचना के बाद बरही डीएसपी मनीष कुमार व इंस्पेक्टर जितेंद्र कुमार सिह के नेतृत्व में पुलिस व सुरक्षाबल के जवान गुरुवार रात क्रशर प्लांट पर पहुंचे और उग्रवादियों को घेर लिया। पुलिस से खुद को घिरता देख बाइकों से पांचों उग्रवादियों ने भागना शुरू कर दिया।

इस बीच मोटरसाइकिलों पर पीछे बैठे उग्रवादी पुलिस पर फायरिग भी करने लगे। फायरिग करते-करते उग्रवादी दोनइकला पत्थर खदान तक पहुंचे और वहां रुककर पत्थरों की ओट से पुलिस पर फायरिग करने लगे। जवाबी फायरिग में दो उग्रवादी ढेर हो गए। मुठभेड़ में मारे गए दोनों उग्रवादियों के पास अत्याधुनिक एके 47 राइफल व दो मैगजीन, एक इंसास रायफल, चार मैगजीन, 200 की संख्या में कारतूस, संगठन के पोस्टर आदि बरामद हुए। बरामद दोनों हथियार पुलिस से लूटे गए थे। डीजीपी डीके पांडेय ने पुलिस की इस साहसिक कार्रवाई में शामिल हर पुलिसकर्मी को नकद पांच हजार रुपये व पुलिस टीम को नकद दो लाख रुपये देने की घोषणा की है।