लखनऊ। पश्चिम बंगाल के मालदा टाउन से चलकर दिल्ली जा रही 14003 न्यू फरक्का एक्सप्रेस सुबह करीब छह बजे हादसे का शिकार हो गई। बताया जा रहा है कि हरचंदपुर स्टेशन के असिस्टेंट स्टेशन मास्टर ने ट्रेन को पास होने के लिए ग्रीन सिग्नल तो दे दिया, लेकिन प्वाइंट बदलकर पटरियां नहीं जोड़ी। जिससे ट्रेन हादसे का शिकार हो गई। रेलवे अधिकारी ने हरचंदपुर के असिस्टेंट स्टेशन मास्टर आशीष कुमार को प्रथम दृष्टया में दोषी पाते हुए निलंबित कर दिया है।

बताते चलें कि अाज सुबह रायबरेली के हरचंदपुर रेलवे स्टेशन के पास फरक्का एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त हो गई। डीअारएम ने बताया है कि हादसे में तीन बच्चों समेत सात लोगों की मौत हो गई। हादसे में 40 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। सभी का इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है।

सुबह लगभग 6.11 बजे हरचंदपुर में लूप लाइन पर न्यू फरक्का एक्सप्रेस की नौ बोगियां डीरेल हो गई। इनमें छह बोगियां पूरी तरह से रेलवे ट्रैक से बाहर हो गई और महिला व दिव्यांग बाेगी पलट गई। इसी बोगी के लोग सबसे ज्यादा हताहत हुए।

फरक्का एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त होने के कारण जौनपुर में बादशाहपुर रेलवे स्टेशन से गुजरने वाली 3006 अमृतसर से हावड़ा जा रही पंजाब मेल ट्रेन का रूट डाइवर्ट कर दिया गया है, जो वाया सुल्तानपुर वाराणसी होते हुए हावड़ा जाएगी। ट्रेन रूट डाइवर्ट होने के कारण प्रतापगढ़, बादशाहपुर, जंघई, भदोही जाने वाले यात्रियों को कठिनाई का सामना करना पड़ेगा।

लखनऊ जा रही मालगाड़ी को बादशाहपुर रेलवे स्टेशन पर रोक दिया गया है। प्रतापगढ़ रेलवे स्टेशन पर चल रहे काम के कारण लखनऊ वाराणसी, वाराणसी, लखनऊ पैसेंजर जनता एक्सप्रेस, इंटरसिटी एक्सप्रेस 10 अक्टूबर तक पहले से निरस्त है। वहीं कई प्रमुख गाडियां का रुट डायवर्जन किया गया है। तो कई गाडियां देरी से चल रही हैं।

जानकारी के अनुसार दुर्घटना हरचंदपुर से 50 मीटर दूर बावागंज में हुई। फिलहाल हादसे के कारणों का खुलासा नहीं हो पाया है लेकिन बताया जा रहा है कि इंजन समेत ट्रेन की 9 बोगियां पटरी से उतर गईं हैं।

हादसे के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हादसे के शिकार लोगों को हर संभव मदद पहुंचाने के निर्देश दिए हैं। साथ ही मृतकों के परिजनों को दो लाख और घायलों को 50 हजार रुपए के मुआवजे की घोषणा की है।

हादसे के बाद घटना स्थल पर स्थानीय लोगों के अलावा राहत और बचाव दल पहुंच चुका है। हादसे के बाद घटनास्थल के एटीएस की टीम को रवाना कर दिया गया है वहीं केंद्रीय रेल मंत्री ने दुर्घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं।