फीरोजाबाद। दो मंजिला मकान था, मगर शौचालय का कोई इंतजाम नहीं था। खेतों में जाना बेटी को अच्छा नहीं लगता था। इसी बात को लेकर मां से झगड़ा हुआ और उसने गले में फंदा कस जान दे दी। घटना उप्र के शिकोहाबाद की ग्राम पंचायत रहचटी के मजरा शिव नगर की है।

आगरा में तैनात सिक्योरिटी गार्ड अवनीश की 16 वर्षीय पुत्री हेमा 11 वीं की छात्रा थी। उनका दो मंजिला मकान नई आबादी क्षेत्र में बना है, जहां पत्नी और बच्चे रहते हैं। घर में शौचालय न होने कारण परिजन शौच के लिए खेतों में जाते हैं। बारिश में जलभराव के कारण परेशानियां बढ़ गईं।

स्थानीय निवासियों के अनुसार, घर में शौचालय बनवाने को लेकर हेमा की बुधवार सुबह मां से कहासुनी हो गई। कुछ देर बाद जब छोटे भाई-बहन स्कूल चले गए और मां पशुओं को बांधने। छात्रा ने दरवाजा बंद कर मां की साड़ी से फंदा बनाकर कस लिया। मां लौटी, तो देखा कि बेटी फंदे से लटकी है। पुलिस ने शव उतरवाया।

एसपी ग्रामीण महेंद्र सिह का कहना है कि छात्रा बहुत ही संजीदा थी। उसने घर में शौचालय बनवाने के लिए मां से कहा। इसी बात पर विवाद हो गया और उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।