रेवाड़ी, हरियाणा। सीबीएसई की टॉपर लड़की से हुए सामूहिक दुष्कर्म का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। विपक्ष जहां पूरी तरह आक्रामक है वहीं मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने शुक्रवार को रेवाड़ी में यह स्पष्ट कर दिया है कि कानून अपना काम करेगा तथा किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा।

मुख्यमंत्री ने आईजी साउथ रेंज की मौजूदगी में रेवाड़ी के पुलिस अधीक्षक राजेश दुग्गल से भी इस मामले की विस्तार से जानकारी ली। उन्होंने पुलिस अधिकारियों को इस प्रकरण में कतई ढील न देने के आदेश दिए हैं। इस बीच दुष्कर्म पीड़िता को शुक्रवार अपराह्न रेवाड़ी के नागरिक अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। पीड़िता डिप्रेशन में बताई जा रही है। नागरिक अस्पताल की ओर से इस बारे में मेडिकल बुलेटिन जारी किया गया है। बुलेटिन के अनुसार रक्तचाप, अल्ट्रासाउंड, एक्स-रे व अन्य सभी जांच नॉर्मल है, लेकिन पीड़िता डिप्रेशन में बताई जा रही है। इसलिए उसे गायनी वार्ड में दाखिल किया गया है। चिकित्सक बारीकी से उनके स्वास्थ्य पर निगाह रख रहे हैं।

दूसरी और रेवाड़ी में बृहस्पतिवार को दर्ज हुई जीरो FIR के बाद अब यह मामला नारनौल पुलिस के पास पहुंच गया है। पीड़िता जहां रेवाड़ी जिले की है, वहीं घटनाक्रम महेंद्रगढ़ जिले के कनीना का है। महेंद्रगढ़ के पुलिस अधीक्षक व अन्य उच्च अधिकारी मामले की बारीकी से जांच में जुटे हैं। कई नए तथ्य भी सामने आ रहे हैं।

दूसरी ओर गैंगरेप मामले में नारनौल के एसपी विनोद कुमार ने पत्रकारों से बातचीत में कहा है कि तीनों आरोपितों की पहचान हो चुकी है। डीएसपी कनीना को आरोपितों को गिरफ्तार करने की जिम्मेवारी सौंपी गई है।

इस बीच हरियाणा महिला आयोग की चेयरपर्सन प्रतिभा सुमन रेवाड़ी पहुंचीं हैं। जल्द ही वो पीड़िता व उसके परिजनों से मुलाकात करेंगी । देर शाम तक बाल संरक्षण आयोग की चेयरपर्सन ज्योति बैंदा के भी रेवाड़ी पहुंचने की संभावना। बैंदा ने कहा दोषियों को सजा दिला कर लेंगे दम।

कोसली उपमंडल के एक गांव से कोचिंग के लिए गई राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित छात्रा का बुधवार सुबह उसके गांव के ही तीन युवकों ने अपहरण कर लिया और नशीला पदार्थ पिलाकर सामूहिक दुष्कर्म किया। पीड़िता बुधवार को रेलवे की परीक्षा की कोचिंग के लिए कनीना गई थी। रास्ते में उसी के गांव निवासी पंकज, मनीष व नीशू ने उसे रोक लिया तथा कोचिंग के बारे में पूछने लगे। मनीष ने उसे पीने के लिए पानी दिया। वह पानी पीकर बेहोश हो गई।

आरोप है कि तीनों उसे एक खेत में ले गए और सामूहिक दुष्कर्म किया। शाम को करीब पांच बजे आरोपित उसे कनीना बस स्टैंड पर छोड़ कर फरार हो गए। छात्रा ने किसी तरह अपने पिता को घटनाक्रम की जानकारी दी, जिसके बाद परिजन मौके पर पहुंचे और पीड़िता को अस्पताल में भर्ती कराया।