हैदराबाद। 25 साल की महिला को अपने बॉयफ्रेंड से शादी के लिए दबाव डालना महंगा पड़ गया। 25 साल के स्ट्रक्चरल इंजीनियर सुनील कुमार ने अपनी गर्लफ्रेंड बी लावण्या की गला घोंटकर हत्या कर दी और उसके बाद उसके शव को सूटकेस में भरकर नाली में बहा दिया। लावण्य गाचीबोवली में टीसीएस सिनर्जी पार्क में सिस्टम इंजीनियर थी।

लावण्या 7 अप्रैल से गायब थी और तब से उसका फोन बंद था और परिवार के पास उसकी बॉयफ्रेंड की कोई जानकारी नहीं थी। पुलिस ने कॉल डिटेल्स निकालकर सुनील की धरपकड़ कर ली। उसे शनिवार रात को गिरफ्तार कर लिया गया।

यह कपल तब से एक-दूसरे से प्यार करते थे जब वे सीएमआर कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी में पढ़ रहे थे। दोनों को नौकरी मिल गई और शादी के बारे में भी एक-दूसरे से बात करते थे। लेकिन कॉलेज की इस लव स्टोरी बिगड़ती चली गई और सुनील ने शादी के सवाल पर लावण्या को नजरअंदाज करना शुरू कर दिया।

आरसी पुरम इंस्पेक्टर पी रामचंद्र राव ने कहा, फरवरी में, लावण्या के शादी को लेकर दबाव से परेशान होकर सुनील ने उसके परिवार से झूठ कहा कि जैसे ही उसे मस्कट में नौकरी मिलेगी लावण्या से शादी कर लेगा। उसने परिवार से कहा कि वह उसे भी उसके साथ भेज दे क्योंकि उसके लिए भी जॉब इंटरव्यू अरेंज किया है।

एसीपी एस रवि कुमार ने कहा, '4 अप्रैल को आरजीआई एयरपोर्ट पर लावण्या के परिवार ने उन्हें छोड़ा, सुनील ने उससे कहा कि उनकी फ्लाइट कैंसल हो गई है और एयरपोर्ट लॉज में जाते हुए कहा कि वह अगले दिन की फ्लाइट लेंगे।'

पुलिस के मुताबिक, लावण्या ने लॉज में बैठे हुए फिर शादी का मुद्दा उठाया और दोनों के बीच बहस बढ़ती गई। सुनील ने उसका गला दबा दिया और उसके बाद 5 अप्रैल की शाम को उसका शव सूटकेस में भरा। रात को शहार में सूरारम ले गया और वाली में शव बहा दिया।

लावण्या ने अपने परिवार को बताया थआ कि वह 7 अप्रैल को लौट आएगी, तो सुनील ने उसके फोन से उसकी बहन को मैसेज किया कि वह शहर आ चुकी है और उसके बाद फोन स्विच ऑफ कर दिया। जब परिवार उससे संपर्क नहीं कर पाया तो पुलिस में मिसिंग की रिपोर्ट की। पुलिस ने कॉल डिटेल्स के जरिए सुनील को पकड़ लिया।

एसीपी ने कहा, सुनील के कबूलनामे के आधार पर लावण्या का शव बरामद किया गया। उसे रविवार को मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया और न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।