श्रीनगर। दक्षिण कश्मीर के शोपियां में मंगलवार को शरारती तत्वों ने सुरक्षाबलों पर पेट्रोल बम से हमला कर दिया। इसमें कोई नुकसान नहीं हुआ। सुरक्षाबलों ने उत्तरी कश्मीर के सालूसा, बारामुला में आतंकियों के छिपे होने की सूचना पर घेराबंदी कर तलाशी अभियान (कासो) चलाया। शोपियां के चकरी चौक में मंगलवार शाम साढ़े पांच बजे कुछ युवकों ने भड़काऊ नारेबाजी करते हुए जुलूस निकालने का प्रयास किया। सुरक्षाबलों ने युवकों को खदेड़ा। इसी दौरान जुलूस में से ही कुछ शरारती तत्वों ने सुरक्षाबलों पर पेट्रोल बम से हमला किया। पेट्रोल बम जवानों से कुछ दूर गिरा और जोरदार धमाके के साथ फट गया। इससे कोई नुकसान नहीं है।

सुबह सेना और पुलिस के जवानों ने सीआरपीएफ के जवानों के साथ मिलकर उत्तरी कश्मीर में जिला बारामुला के अंतर्गत सालूसा गांव में कासो चलाया। सुरक्षाबलों को गांव में एक विदेशी और दो स्थानीय आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिली थी। जवानों ने तीन घंटे तक सभी संदिग्ध मकानों की तलाशी लेने के अलावा कुछ युवकों से पूछताछ भी की। आतंकियों का कोई सुराग नहीं मिलने पर कासो समाप्त कर दिया।

पुलवामा जिले में करीमाबाद गांव के अस्तान मोहल्ले में भी आतंकियों के छिपे होने की सूचना पर सुरक्षाबलों ने कुछ संदिग्ध मकानों की तलाशी ली, लेकिन कोई सफलता नहीं मिली। सूत्रों की मानें तो दो आतंकी इस इलाके में अपने किसी संपर्क सूत्र के पास आए थे। घेराबंदी शुरू होने से पहले ही वह वहां से निकलने में कामयाब रहे।