अलीगढ़। उत्तर प्रदेश सरकार के धार्मिक स्थलों से अवैध लाउडस्पीकर हटाए जाने के निर्देश के बीच ही मुस्लिम संगठन इस्लाहे मुआशरा ने बड़ा एलान किया है।

जुमे के दिन ऊपरकोट स्थित जामा मस्जिद में देर शाम हुई बैठक में एलान किया गया कि जिन शादियों में डीजे व साउंड बजाया जाएगा, आतिशबाजी होगी वहां काजी निकाह पढ़ाने नहीं जाएंगे।

उन्होंने निकाह पढ़ाया तो उनका बहिष्कार किया जाएगा। जमीयत अल कुरैश भी इसमें साथ देगा। बैठक में हाथरस जिले के शहर मुफ्ती मौलाना इमरान ने कहा कि इस्लाहे मुआशरा "आओ निकाह आसान बनाएं" की मुहिम की शुरुआत की जाएगी। लोगों से कहा जाएगा कि वह निकाह लॉज की बजाय मस्जिदों में पढ़वाएं।

उन्होंने कहा कि इस्लाम में लड़की के यहां दावत खाना सही नहीं बताया गया है।