तिरुवनंतपुरम। केरल में तिरुवनंतपुरम जिले के नेयटिनकारा में मंगलवार को एक 40 वर्षीय मां ने अपनी 19 साल की बेटी के साथ खुद को आग लगा ली। घटना के बाद दोनों की मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि, बेटी वैष्णवी की मौके पर ही मौत हो गई थी। जबकि, 90 प्रतिशत तक जल चुकी मां लेखा ने इलाज के दौरान अस्पताल में दम तोड़ दिया। मां का इलाज तिरुवनंतपुरम मेडिकल कॉलेज अस्पताल में चल रहा था। घटना के पीछे बैंक लोन ना चुका पाने और बैंक के दबाव का मामला सामने आया है।

पति का आरोप- बैंक के अधिकारी देते थे धमकी

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, जिस समय घटना हुई उस समय लेखा के पति चंद्रन घर में मौजूद नहीं थे। लेखा के पति चंद्रन का आरोप है कि, बैंक का कर्ज ना चुका पाने और बैंक अधिकारियों के बार-बार कुर्की की कार्रवाई के दबाव में मेरी पत्नी और बेटी ने खुद को आग लगाई है। चंद्रन ने बताया कि उन्होंने साल 2005 में नेयाटिनकारा के केनरा बैंक से पांच लाख रुपये का होम लोन लिया था। वह पहले ही करीब आठ लाख रुपये का भुगतान कर चुके हैं। अभी 6 लाख का बकाया है, जिसे लेकर बैंक अधिकारी आए दिन संपत्ति कुर्की की धमकी देते थे।



स्थानीय लोगों ने किया चक्का जाम

घटना की खबर लगते ही स्थानीय निवासियों ने चंद्रन के घर के सामने सड़क पर चक्काजाम कर दिया और जिम्मेदार लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। वहीं, राज्य के वित्त मंत्री थॉमस आइजैक ने इस मामले में जांच का वादा किया है। उन्होंने कहा कि, अगर बैंक के तरफ से किसी प्रकार का दबाव दिया गया तो यह गलत है। हम जांच के बाद कार्रवाई करेंगे।