कोलकाता। रोजाना 250 रुपए कमाने वाले टीवी मैकेनिक बिरजू रजक जिसके अकाउंट में मात्र 8449.19 रुपए हैं, वह पांच प्राइवेट कंपनियों का 'डायरेक्टर' निकला। कोलकाता के बिरजू को इनकम टैक्स विभाग ने नोटिस भेजा और पूरे पांच घंटे तक पूछताछ की। उस पर आरोप था कि अपने अकाउंट में बिरजू ने 5.47 करोड़ का ट्रांजेक्शन किया है। वह पांच प्राइवेट कंपनियों का मालिक है और गैरकानूनी कमाई का आरोप भी लगाया गया।

पूछताछ और आगे की जांच के बाद पता चला कि वह खुद घोखाधड़ी का शिकार हो गया। इनकम टैक्स अधिकारियों के मुताबिक, 'उसके आइडेंटिटी प्रूफ का दुरूपयोग हुआ है। बिरजू की मां हावड़ा में आनंद मोदी नाम के एक शख्स के घर काम करती है, आनंद मोदी ने उसकी मां से बिरजू का आधार कार्ड और अन्य पहचान पत्र मंगवाए और उसका पैन कार्ड भी बनवा दिया। मोदी ने बिरजू के नाम से पांच कंपनियां नाइटशाइन विनिमय प्रा. लि., ट्राईआई डिस्ट्रीब्यूटर्स, गैनवेल प्रमोटर्स प्रा. लि. और ईवनिंग स्टार मारकॉम प्रा. लि. खोल दी और इसके अलावा उसके नाम से कुछ बैंक अकाउंट भी खोले दिए।

इन कंपनियों के जरिए वह ब्लैक मनी को व्हाइट मनी में बदलता था। इसकी खबर बिरजू को लगी तो उसे कहा गया कि वह चिंता न करें उसके आईटी विभाग में पहचान है और कुछ नहीं होगा। इस बीच आनंद मोदी और बिरजू के बीच की कॉल रिकॉर्डिंग पुलिस ने की। आगे की जांच जारी रखी पुलिस इस मामले में आनंद मोदी से सवाल-जवाब करेगी।