कोलकाता। पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता में पिछले दिनों भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो के दौरान जमकर हिंसा और आगजनी हुई थी। भारत के महान शिक्षाविद् ईश्वरचंद विद्यासागर की प्रतिमा भी इसी हिंसा में टूट गई थी। भाजपा ने प्रतिमा खंडित करने का आरोप तृणमूल कांग्रेस पर लगाया था। वहीं, ममता बनर्जी ने भाजपा पर प्रतिमा तोड़ने का आरोप लगाया। ईश्वरचंद विद्यासागर को लेकर दोनों दलों ने बंगाली अस्मिता का मामला उठा दिया। वहीं, दूसरी ओर गुरुवार को भाजपा की एक रैली में ईश्वर चंद्र विद्यासागर पार्टी उम्मीदवार के लिए चुनाव प्रचार करते नजर आए।

एक ओर विद्यासागर को बड़ा मुद्दा बनाकर बंगाली अस्मिता से जोड़ा जा रहा है। वहीं, विद्यासागर अब भाजपा प्रत्‍याशी अनुपम हाजरा के साथ चुनाव प्रचार कर रहे हैं। दरअसल, विद्यासागर के गेटअप में एक व्यक्ति उनके लिए वोट मांग रहा है। इस पर हाजरा ने कहा कि, 'बंगाल के लोगों की नजर में भाजपा को बदनाम करने के लिए एक साजिश रची गई थी। चुनाव प्रचार के लिए ईश्‍वरचंद्र विद्यासागर जैसे दिखने वाले आदमी का इस्‍तेमाल इसलिए किया गया, ताकि विद्यासागर के प्रति अपना सम्‍मान प्रदर्शित कर सकें।


विद्यासागर के गेटअप में कृष्णा बैरागी

हाजरा ने अपने प्रचार के लिए कृष्‍णा बैरागी नाम के एक एक्‍टर को चुना है। जोकि विद्यासागर जैसा गेट-अप धारण करके हाजरा के साथ वोट मांग रहे हैं। सोशल मीडिया पर नकली विद्यासागर की तस्‍वीर भी खूब शेयर की जा रही है।