नई दिल्ली। ललित कला अकादमी ने शनिवार को राष्ट्रीय अकादमी पुरस्कारों की घोषणा की। यह घोषणा दिल्ली के कांस्टीट्‌यूशन क्लब में ललित कला अकादमी के मुख्य प्रशासक सीएस कृष्णा शेट्टी ने एक प्रेसवार्ता के दौरान की। उन्होंने कहा कि जिन 15 लोगों के नामों की घोषणा हुई है, उनकी कृतियों की प्रदर्शनी ललित कला अकादमी में लगाई जाएगी।

उन्होंने कहा कि 59वीं राष्ट्रीय कला प्रदर्शनी केवल देश भर के कलाकारों की प्रतिभागिता ही नहीं अपितु उससे बढ़कर है। यह कला प्रेमियों और कलाकारों के बीच संवाद का एक माध्यम होने के साथ-साथ सर्जक और दर्शक के बीच का एक रिश्ता भी कायम करती है।

दो श्रेणियों में जिन 15 कलाकारों का चयन किया गया है उनको सम्मान स्वरूप एक लाख रुपये और एक प्रमाणपत्र दिया जाएगा। जल्द ही एक कार्यक्रम कर यह आयोजन किया जाएगा। शेट्टी ने कहा कि विजेताओं के चयन में देश के विभिन्न हिस्सों के कला पारखी शामिल थे। उन्होंने कहा कि 59 वीं राष्ट्रीय कला प्रदर्शनी का उद्देश्य सौंदर्यात्मक अपील और माध्यमों के उपयोग के संबंध में श्रेष्ठ कलाकृतियों को प्रदर्शित करना है।

इस प्रदर्शनी के लिए 15 पुरस्कार विजेताओं का चयन किया गया है। 30-35 वर्ष आयु समूह में पुरस्कार पाने वालों में ज्योतिप्रकाश सेथी (भुवनेश्वर), विवेक कुमार, (दिल्ली), पप्पू बर्धन (कोलकाता), चेरिंग नेगी (दिल्ली), देवाशीष दत्ता ( वडोदरा, गुजरात), इंदिरा पुरकायस्थ घोष (रायपुर), विक्रांत विश्वास भिसे (मुंबई), शिवकुमार केसरमदु ( मैसूर ,कर्नाटक), रबि नारायण गुप्ता ( खैरागढ़, छत्तीसगढ़) व प्रदीप प्रताप ( कोट्टायम, केरल) शामिल हैं।

वहीं 50 वर्ष से अधिक आयु के कलाकारों के लिए पुरस्कार पाने वालों में पंकज गहलोत (शिवगंज, राजस्थान), कुमारन केआर (अंगामाली, केरल), अतिन बासक (कोलकाता), अमित दत्त (दिल्ली) व अमित चक्रवर्ती ( कोलकाता) शामिल हैं। भारतीय स्वतंत्रता की 70वीं जयंती के अवसर पर पुरस्कार चयन हेतु दो श्रेणियां रखी गई थीं।

इसमें 10 पुरस्कार 30-35 वर्ष के आयु समूह के लिए और पांच पुरस्कार 50 वर्ष से अधिक आयु के कलाकारों के लिए हैं। अकादमी को पूरे देश से 1433 कलाकारों की 3644 प्रविष्टियां प्राप्त हुई थीं। निर्णायक मंडल ने राष्ट्रीय प्रदर्शनी के लिए विभिन्ना माध्यमों से 171 कलाकारों की 172 कृतियों का चयन किया। इन 172 कलाकृतियों में से 15 राष्ट्रीय अकादमी पुरस्कार विजेताओं का चयन 59वीं राष्ट्रीय कला प्रदर्शनी के लिए किया गया।