बठिंडा। 17 वीं लोकसभा के गठन के लिए चुनाव प्रचार के अंतिम दिन पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह पर निशाना साधा और गुरुग्रंथ साहिब की बेअदबी को लेकर सरकार से कार्रवाई की अपील भी की। हांलाकि उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया और बेअदबी को लेकर विरोध जताया। साथ ही उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अकाली दल के प्रमुख बादल को लेकर कहा कि इस बार बादलों को हरा दो, वह नंगे पांव उनके पास आएगा। उन्होंने पीएम मोदी को अंधा गुरू और बादल को बहरा चेला कहा और उन्हें वोट न देने की अपील भी की।

राज्य सरकार में कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने कहा कि वे बठिंडा की धरती पर श्री दमदमा साहिब से दम लेकर आए हैं। यदि बेअदबी करने वालों पर कार्रवाई नहीं हुई तो वे इस्तीफा दे देंगे। उनका कहना था कि कोई कहता है कि अगर सभी 13 सीटें हार गए तो मैं इस्तीफा दे दूंगा। मगर बेअदबी मामले में कार्रवाई जरुर होना चाहिये।

हांलाकि उन्होंने इस तरह की मांग करते हुए राज्य के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह का नाम नहीं लिया। उन्होंने सवाल किया कि बेअदबी मामले में जब जस्टिस रंजीत सिंह कमीशन ने अपनी रिपोर्ट दे दी तो फिर आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज क्यों नहीं हुआ।

सिद्धू ने कहा कि उनके सपने में उनकी मां आई थीं, जिन्होंने कहा कि वह अब झोली फैलाना बंद कर दे और सच्चा सिख बनकर गुरु के साथ खड़ा हो जा। इस बार जुल्म की जड़ उखाड़नी है। तीन पीढ़ियों का नाश करने वालों को खत्म करना है। गौरतलब है कि पंजाब राज्य में अज्ञात लोगों द्वारा श्री गुरुग्रंथ साहिब की प्रतियों को फाड़ दिया गया था। इसे पवित्र ग्रन्थ की बेअदबी माना गया और कई स्थानों पर विरोध प्रदर्शन किये गये।