Naidunia
    Saturday, February 24, 2018
    Previous

    महागठबंधन बनाने में जुटे शरद यादव को राहुल के नेतृत्व पर भरोसा

    Published: Tue, 13 Feb 2018 09:09 PM (IST) | Updated: Tue, 13 Feb 2018 09:15 PM (IST)
    By: Editorial Team
    sharad yadav 130218 13 02 2018

    चंडीगढ़। बिहार विधानसभा चुनाव की तर्ज पर आगामी लोकसभा चुनाव में महागठबंधन बनाने की तैयारी में जुटे जनता दल (यूनाइटेड) के पूर्व अध्यक्ष शरद यादव का कहना है कि जल्द ही वह अपनी नई पार्टी की घोषणा कर देंगे।

    कभी लेफ्ट व जनता दल का मजबूत गढ़ रहे पंजाब में अपने पुराने साथियों को ढूंढने चंडीगढ़ पहुंचे शरद ने मंगलवार को पत्रकारों से बातचीत में जहां केंद्र सरकार पर निशाना साधा, वहीं कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी के प्रति काफी नरम रुख दिखाया।

    पूर्व सांसद शरद यादव ने भरोसा जताया कि केंद्र में बिखरे हुए विपक्ष का नेतृत्व करने की क्षमता कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी के पास है, लेकिन आगामी लोक सभा चुनाव में महागठबंधन का नेतृत्व राहुल करेंगे, इस सवाल पर उन्होंने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।

    नोटबंदी, जीएसटी, काला धन जैसे मुद्दों पर केंद्र सरकार को घेरते हुए उन्होंने भाजपा पर जाति के आधार पर झगड़े करवाने और मतदाताओं के ध्रुवीकरण का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि 2014 के लोक सभा चुनाव में 31 फीसद वोट जहां भाजपा को पड़े थे वहीं, 69 फीसद भाजपा के खिलाफ पड़े थे। महागठबंधन करके इसी 69 फीसद वोट पर फोकस करने की तैयारी है।

    कभी लालू प्रसाद यादव और कांग्र्रेस के खिलाफ खड़े होने वाले शरद यादव कांग्र्रेस के प्रति नरम पड़ी अपनी नीति को मौकापरस्ती की राजनीति नहीं मानते हैं। वह कहते हैं कि 40 साल कांग्र्रेस का विरोध किया, लेकिन अब पीछे नहीं आगे देखने का समय है क्योंकि 1975 में इमरजेंसी दिखती थी, अब एनडीए सरकार में अघोषित इमरजेंसी लगी हुई है।

    साझी विरासत बचाओ सम्मेलन के जरिए अपनी राजनीतिक पार्टी की जमीन तैयार करने में जुटे शरद यादव की नजर अब जनता पार्टी के पुराने साथियों व लेफ्ट के निष्क्रिय नेताओं पर है। पूर्व जदयू नेता ने कहा कि लेफ्ट व जनता दल के स्वर्णिम काल में पंजाब में इन दोनों ही विचारधाराओं को अच्छा समर्थन था। अब उन लोगों से फिर संपर्क किया जाएगा।

    नीतीश का नाम लिए बिना साधा निशाना-

    शरद यादव ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमला करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। उन्होंने बिना नीतीश का नाम लिए बिना कहा कि बिहार में 11 करोड़ लोगों ने महागठबंधन को अपना वोट दिया था। गठबंधन को तोड़ करके 11 करोड़ लोगों को धोखा दिया गया है।

    प्रतिक्रिया दें
    English Hindi Characters remaining


    या निम्न जानकारी पूर्ण करें
    नाम*
    ईमेल*
    Word Verification:*
    Please answer this simple math question.
    +=

      जरूर पढ़ें