नई दिल्ली। एनआरएस अस्पताल, कोलकाता के जूनियर डॉक्टरों ने घोषणा की कि वे अपनी हड़ताल को वापस ले रहे हैं। जूनियर डॉक्‍टरों ने बताया कि हम सीएम का दिल से आभार व्यक्त करते हैं।

उन्‍होंने बताया कि आंदोलन के बाद, हमारे सीएम के साथ बैठक और विचार-विमर्श के बाद हम हड़ताल वापस ले रहे हैं। नियत समय में चर्चा की गई समस्याओं को हल करने के लिए हम सरकार से अपेक्षा करते हैं कि सब कुछ पर विचार करें।

हम देश के सभी सीनियर डॉक्‍टर, जूनियर डॉक्‍टर, मरीज़ों, आम लोगों, बुद्धिजीवियों और चिकित्सा बिरादरी के लिए अपना हार्दिक आभार प्रकट करते हैं जिन्होंने अपना समर्थन बढ़ाया और इस आंदोलन को संभव बनाया। हम भविष्य में इस एकता को बनाए रखने की उम्मीद करते हैं।

पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी इस वक्त हड़ताली डॉक्टरों से मुलाकात कर रही थीं। इससे पहले बताया गया था कि ममता बनर्जी आज राज्य के हर मेडिकल कॉलेज के दो प्रतिनिधियों से मुलाकात करेंगी। पश्चिम बंगाल में डॉक्टरों पर हमले के खिलाफ इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के आह्वान पर देशभर के डॉक्टर हड़ताल पर हैं। डॉक्टरों की इस हड़ताल का असर सुबह से ही नजर आने लगा है और मरीज परेशान हो रहे थे।

वहीं दूसरी तरफ देश के हर राज्य में डॉक्टर हड़ताल पर चल रहे हैं। असम, कर्नाटक, मध्यप्रदेश समेत कईं राज्यों के बड़े शहरों में हड़ताल का व्यापक असर नजर आ रहा है।

इस हड़ताल के दौरान देशभर के अस्पतालों में सोमवार सुबह 6 बजे से मंगलवार सुबह 6 बजे तक आपात व कैजुअल्टी संबंधी चिकित्सा सेवाओं को छोड़कर अन्य गैर जरूरी स्वास्थ्य सेवाएं नहीं मिल रही थीं।

हालांकि, दिल्ली एम्स के रेसिडेंट डॉक्टर्स एसोसिएशन ने इस हड़ताल में सुबह से शामिल होने के बजाय दोपहर 12 बजे से मंगलवार सुबह 6 बजे तक हड़ताल की है। इस दौरान सभी इमरजेंसी सेवाएं, ICU, प्रसव रूम चलते रहे।

सोमवार सुबह से शुरू हुई हड़ताल के कारण राजस्थान के जयपुर में जयपुरिया अस्पताल में डॉक्टर्स नदारद रहे और मरीज उनकी तलाश करते रहे।

गुजरात में भी डॉक्टरों की हड़ताल का असर सुबह से नजर आने लगा। वडोदरा के सयाजीराव जनरल हॉस्पिटल के डॉक्टर्स सुबह से ही बंगाल में हुई डॉक्टरों के खिलाफ हिंसा का विरोध करते हुए हड़ताल करते नजर आए।

उधर बंगाल में जूनियर डॉक्टर छठे दिन भी हड़ताल पर रहे। इससे मरीजों की परेशानियां बढ़ती जा रही हैं। हालांकि रविवार को जूडा थोड़े नरम पड़े और उन्होंने मीडिया की मौजूदगी में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से चर्चा की पेशकश की थी।