जम्मू। जम्मू के नौशहरा स्थित पखर्नी सेक्टर में शुक्रवार को नियंत्रण रेखा के पास दो आइइडी विस्फोट और सुंदरबनी में स्नाइपर हमले में एक मेजर, राइफलमैन और पोर्टर समेत तीन शहीद हो गए। जबकि एक सूबेदार व सिपाही समेत दो जवान घायल हुए हैं। माना जा रहा है कि आइईडी विस्फोट पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम (बैट) की करतूत है।

भारतीय क्षेत्र में घुसकर लगाई गई आइईडी में रिमोट कंट्रोल से विस्फोट किया गया है। इस घटना के बाद सीमा पर बड़े पैमाने पर तलाशी अभियान चलाया गया है। इस घटना से सीमा पर तनाव का माहौल है और भारतीय सेना भी पाक सेना को मुंहतोड़ जवाब दे रही है। शहीदों की पहचान सेना की 2/1 जीआर के मेजर एसजी नायर निवासी पुणे (महाराष्ट्र), 2/1 जीआर के राइफलमैन जीवन गुरंग निवासी नेपाल और सेना के साथ पोर्टर के रूप में काम कर रहे हेम राज पुत्र तारा चंद निवासी दादल (सुंदरबनी) के रूप में हुई है।

जानकारी के अनुसार, पाकिस्तान पिछले दस दिन से लगातार भारतीय सैन्य चौकियों के साथ रिहायशी क्षेत्रों को निशाना बनाकर आतंकियों को भारतीय क्षेत्र में दाखिल करवाने का प्रयास कर रहा था। इसी बीच, शुक्रवार को सेना की एक जिप्सी नौशहरा के पुखर्नी सेक्टर में तारबंदी से आगे भारतीय क्षेत्र में अपनी अग्रिम पोस्ट पर जा रही थी। इस दौरान जीप, वहां फिट की गई आइइडी की चपेट में आ गई और एक जोरदार धमाका हुआ। इससे जिप्सी क्षतिग्रस्त हो गई और उसमें सवार एक सूबेदार, राइफलमैन और सिपाही घायल हो गए।

उसी समय सेना के चॉपर से तीनों घायलों को कमान अस्पताल ऊधमपुर ले जाया गया। जहां उपचार के दौरान राइफलमैन जीवन गुरंग शहीद हो गए। घटना के तुरंत बाद सेना के मेजर रैंक के अधिकारी एसजी नायर (क्षेत्र में कंपनी कमांडर) जैसे ही घटनास्थल पर पहुंचे तो उसी समय एक और आइइडी में विस्फोट हो गया। इस धमाके में मेजर की मौके पर ही मौत हो गई।

सूत्रों के अनुसार, बैट दस्ते में शामिल पाकिस्तानी सेना के कमांडो व विशेष रूप से प्रशिक्षित आतंकियों ने भारतीय क्षेत्र में दाखिल होकर आइईडी लगाई थी और मौका पाकर रिमोट कंट्रोल से एक-एक कर दो विस्फोट कर दिए। इस बीच, सुंदरबनी के दादल सेक्टर में भी पाक सेना ने भारतीय सेना के साथ काम करने वाले पोर्टर हेम राज पर स्नाइपर शॉट दागा। इससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। उसे तुरंत सैन्य अस्पताल जम्मू में रेफर किया गया। जहां उपचार के दौरान उसने दम तोड़ दिया।