चंडीगढ़। कांग्रेस नेता व पंजाब के मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के गले की 'वोकल कार्ड' (स्वर तंत्री) में चोट आ गई है। उनकी आवाज बंद होने की कगार पर पहुंच गई है। पिछले 17 दिनों में उन्होंने 70 से ज्यादा सभाएं की थीं। डॉक्टरों ने कहा है कि यदि उन्होंने अगले तीन से पांच दिन तक पूर्ण आराम नहीं किया तो खतरा बढ़ सकता है।

अज्ञात स्थान पर ले जाया गया

पंजाब सरकार द्वारा गुरुवार को जारी बयान के अनुसार, राज्य के स्थानीय शासन, पर्यटन व संस्कृति मंत्री सिद्धू को पूर्ण चेकअप और स्वास्थ्य में सुधार के लिए अज्ञात स्थान पर ले जाया गया है। सिद्धू कांग्रेस के स्टार प्रचारक थे और राजस्थान, मप्र, छग व तेलंगाना में उन्होंने एक पखवाड़े से ज्यादा समय तक 70 से ज्यादा सभाएं की थीं।

बयान में कहा गया है कि उन्होंने लगातार हेलिकॉप्टर व विमानों में यात्राएं कीं, इससे उनका स्वास्थ्य बिगड़ गया है। उनका रक्त परीक्षण किया गया है। उन्हें दवाएं, श्वसन तंत्र का अभ्यास व फिजियोथैरेपी कराई जा रही है। कुछ साल पहले हुई डीवीटी कुछ साल पहले सिद्धू को डीवीटी (डीप वेन थ्रोम्बोसिस) हो गई थी और उनका एम्बोलिज्म (दिल) का उपचार किया गया था।

डीवीटी खून का थक्का जमने से जुड़ी एकस्थिति होती है। जब शरीर की किसी एक या कई गहरी नसों में खून का थक्का बन जाता है तो उसे डीवीटी कहा जाता है। हाजिर जवाबी व भाषण शैली पहचान 55 साल के पूर्व क्रिकेटर व टेलीविजन कलाकार सिद्धू हाजिर जवाबी और खास भाषण शैली के लिए लोकप्रिय हैं। पिछले दिनों उन्होंने न केवल सभाओं में खूब भाषण दिए बल्कि वह 28 नवंबर को पाकिस्तान के करतारपुर साहिब भी गए। वहां उन्होंने पाक पीएम इमरान खान के साथ करतारपुर कॉरिडोर की नींव रखने के कार्यक्रम में हिस्सा लिया।