लखनऊ। विभिन्न देशों में रहने वाले उत्तर प्रदेश मूल के प्रवासी भारतीयों के हितों की रक्षा और उनकी शिकायतों के समाधान में होने वाले प्रक्रियागत विलंब को समाप्त करने के लिए एनआरआइ विभाग ने एक नई वेबसाइट (http://upnrigrs.in/) बनाई है। वेबसाइट का संचालन उद्योग बंधु स्थित यूपीएनआरआइ शिकायत निवारण केंद्र से किया जाएगा।

इस वेबसाइट पर प्रवासी भारतीयों की ओर से ऑनलाइन प्राप्त होने वाली शिकायतों का त्वरित निस्तारण और उनकी समयबद्ध निगरानी की व्यवस्था प्रत्येक स्तर पर की जाएगी। इसके लिए जिला स्तर पर जिलाधिकारी की अध्यक्षता में समिति बनाई गई है।

समिति में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, संबंधित विकास प्राधिकरणों के मुख्य कार्यपालक अधिकारी/उपाध्यक्ष द्वारा नामित अधिकारी, मुख्य विकास अधिकारी और मुख्य चिकित्सा अधिकारी को सदस्य बनाया गया है। उप्र वित्तीय निगम के क्षेत्रीय प्रबंधक समिति के सदस्य सचिव बनाये गए हैं।

सदस्य सचिव दो महीने के अंतराल पर समिति की बैठक का आयोजन कराकर प्रवासी भारतीयों की समस्याओं का निराकरण कराएंगे। बैठक की कार्यवाही की जानकारी शासन और उद्योग बंधु को दी जाएगी। एनआरआइ विभाग के प्रमुख सचिव आलोक सिन्हा ने सभी जिलों में जिलाधिकारी समेत समिति के सभी सदस्यों को इसी आधार पर कार्यवाही करने का निर्देश दिया है।

देखें वेबसाइट