श्रीनगर। पाकिस्तान ने गुरुवार को उत्तरी कश्मीर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर स्थित माछिल सेक्टर और जम्मू के सुंदरबनी इलाके में गोलाबारी और स्नाइपर शॉट दागे। इस हमले में दो जवान शहीद हो गए। वहीं, माछिल में भारतीय सेना की ओर से की गई जवाबी कार्रवाई में पाक स्थित केल की दो निगरानी पोस्ट तबाह हुई हैं। इसके अलावा जानी नुकसान का भी दावा किया जा रहा है।

सीमा पर हालात सामान्य न होने के चलते आसपास के इलाकों में रहने वालों को सावधानी बरतने और तारबंदी से सटे चरागाहों व खेतों में जाने से मना किया है। गौरतलब है कि उत्तरी कश्मीर में पाक सैनिकों ने बुधवार सुबह उड़ी सेक्टर में कमलकोट इलाके में तारबंदी का मुआयना करने गए भारतीय जवानों को स्नाइपर शॉट का निशाना बनाया था। इसमें दो जवान जख्मी हुए थे।

सैन्य अधिकारियों ने बताया कि उड़ी सेक्टर में बुधवार रात से गुरुवार सुबह साढ़े ग्यारह बजे तक दोनों तरफ से एक-दूसरे के ठिकाने पर गोलीबारी होती रही। उड़ी सेक्टर में कमलकोट के पास एक ग्रामीण का मकान पाक गोलाबारी में क्षतिग्रस्त हो गया।

वहीं, कुपवाड़ा के माछिल सेक्टर में पाक सैनिकों ने रिगपायीन, तांत्रे और खान बस्ती पर गोलाबारी की। पाकिस्तानी सैनिकों ने इस दौरान सैन्य और नागरिक ठिकानों को निशाना बनाया। इसमें एक जवान जख्मी हो गया। उसे तुरंत अस्पताल पहुंचाया गया, जहां उसकी मौत हो गई।

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने बताया कि सुबह पौने ग्यारह बजे मच्छल सेक्टर में पाक गोलाबारी का जवाब देते हुए एक जवान शहीद हो गया है। भारतीय जवानों ने पाकिस्तानी सेना को जवाब देते हुए उसे जान-माल का नुकसान पहुंचाया है।

पाकिस्तानी सेना की दो निगरानी पोस्ट तबाह होने की सूचना है। सभी अग्रिम नाकों को भी घुसपैठ की आशंका के चलते सचेत करते हुए संवेदनशील इलाकों में तलाशी अभियान शुरू किया गया है। वहीं, राजौरी जिले में सुंदरबनी में नियंत्रण रेखा पर स्थित राखी पोस्ट पर पाक सैनिकों ने स्नाइपर शॉट से हमला किया। इसमें सिपाही परसोनोजीत विश्वास निवासी नड़ायन पश्चिम बंगल और मनसा राम निवासी ग्वालियर मध्यप्रदेश घायल हो गए। दोनों जवानों को अस्पताल पहुंचाया गया। जहां कॉन्स्टेबल विश्वास ने दम तोड़ दिया। इस पोस्ट पर 126 बटालियन तैनात है।

क्रॉस एलओसी ट्रेड अनिश्चितकाल के लिए बंद

पाक गोलीबारी के चलते जम्मू कश्मीर और गुलाम कश्मीर के बीच होने वाला क्रॉस एलओसी ट्रेड गुरुवार को अनिश्चितकाल के लिए बंद हो गया। गौरतलब है कि भारत-पाकिस्तान के बीच समझौते के तहत अक्टूबर 2008 में जम्मू कश्मीर और गुलाम कश्मीर के बीच ड्यूटी फ्री क्रॉस एलओसी ट्रेड शुरू हुआ था।

व्यापारियों के सामान से लदे ट्रक उड़ी सेक्टर के रास्ते गुलाम कश्मीर जाते और आते हैं। गुरुवार को भी दोनों तरफ से व्यापारिक ट्रकों की आवाजाही थी। सुबह गुलाम कश्मीर स्थित क्रॉस एलओसी ट्रेड से जुड़े अधिकारियों ने संबंधित माध्यम के जरिए जम्मू और कश्मीर के संबंधित प्रशासन को सूचित किया कि अब व्यापारिक ट्रकों की आवाजाही नहीं होगी। यह व्यापार अगली सूचना तक स्थगित रहेगा। उड़ी स्थित अधिकारी ने बताया कि एलओसी पर जो हालात बने हुए हैं उसके चलते ही क्रॉस एलओसी व्यापार रोका गया है।