सहारनपुर। उप्र के सहारनपुर और उत्तराखंड के हरिद्वार जिले में 127 लोगों की मौत का सबब बनी जहरीली शराब सहारनपुर में ही तैयार की गई थी। दोनों जिलों की पुलिस ने संयुक्त अभियान चलाकर पांच आरोपितों को गिरफ्तार करते हुए मामले का पर्दाफाश करने का दावा किया है। आरोपितों ने किसी जहरीले पदार्थ में पानी मिलाकर 100 लीटर शराब सहारनपुर के पुंडैन गांव में ही तैयार की थी। उधर, सोमवार को तीन और लोगों की मौत होने से सहारनपुर में जहरीली शराब से मृतकों की संख्या 91 पहुंच गई।

सोमवार को सहारनपुर पुलिस लाइन में पत्रकारों से बात करते हुए सहारनपुर के एसएसपी दिनेश कुमार पी व एसएसपी हरिद्वार जन्मेजय खंडूरी प्रभाकर ने बताया कि सोमवार दोपहर गागलहेड़ी क्षेत्र में दबिश दी गई। यहां से गुरु सिह उर्फ लाड्डी, सर्वेश उर्फ पिकी गुप्ता निवासीगण चुन्हैटी शेख गागलहेड़ी और टिंकू निवासी पुंडेन गागलहेड़ी को गिरफ्तार किया गया। इनके कब्जे से डेढ़ लीटर जहरीली शराब बरामद हुई।

एसएसपी दिनेश कुमार ने बताया कि गुरु सिंह हरदेव व उसके पिता सुक्का उर्फ सुखविदर के साथ मिलकर कच्ची शराब का धंधा करता है। पिछले सप्ताह हरिद्वार के थाना भगवानपुर के गांव डाडली के लाला उर्फ अर्जुन से 200 लीटर तरल पदार्थ खरीदा था। इसके बाद 50 लीटर तरल पदार्थ में पानी मिलाकर 100 लीटर शराब तैयार की थी। शेष तरल पदार्थ उसे वापस कर दिया गया था।

हरिद्वार के एसएसपी जन्मेजय खुडूरी प्रभाकर ने बताया कि सोमवार को उनकी टीम ने झबरेड़ा क्षेत्र से सरदारों के डेरा चुन्हैटी शेख से सरदार हरदेव सिह व उसके पिता सुखविदर उर्फ सुक्का को गिरफ्तार कर लिया। ये गांव पुंडैन, थाना गागलहेड़ी, सहारनपुर निवासी हैं। इन्होंने ही अन्य लोगों के साथ मिलकर जहरीली शराब की खेप तैयार की थी। जहरीली शराब पुंडैन में ही तैयार हुई थी, जिसे हरिद्वार क्षेत्र के गांव बाल्लुपुर में सप्लाई किया गया था।

ये आरोपित हैं

फरार लखविद्र उर्फ बाबा पुत्र बलदेव सिह, भरतु पुत्र चमेला दोनों निवासी पुंडैन थाना गागलहेड़ी, कबूतरबाज उर्फ ऋषिपाल पुत्र नसीब निवासी भलस्वा थाना नागल सहारनपुर व अर्जुन उर्फ लाला निवासी गांव डाडली तेजपुर थाना भगवानपुर हरिद्वार हैं।

आबकारी के दो और इंस्पेक्टर निलंबित

आबकारी उपायुक्त आरके चतुर्वेदी ने बताया कि सोमवार को देवबंद सर्किल के आबकारी इंस्पेक्टर आशीष कुमार व बेहट के हरीशचंद्र को निलंबित कर दिया गया। इससे पहले शुक्रवार को जिला आबकारी अधिकारी अजय कुमार सिह, आबकारी इंस्पेक्टर गिरीश चंद्र, सिपाही नीरज और अरविंद निलंबित हुए थे।