जेवारगी (कर्नाटक)। मंदिरों के दर्शन की वजह से "नरम हिंदुत्व" के आरोप का सामना कर रहे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने सोमवार को कहा कि वह इसे जारी रखेंगे।

चार दिवसीय "जनआशीर्वाद यात्रा" के तीसरे दिन संवाददाताओं से बातचीत में उन्होंने कहा, "मुझे मंदिर जाना पसंद है। जहां कहीं धार्मिक स्थल मिलता है, मैं वहां जाता हूं। मुझे अच्छा लगता है और खुशी मिलती है। मैं यह करता रहूंगा।"

राहुल प्रदेश भाजपा अध्यक्ष बीएस येद्दयुरप्पा के आरोप का जवाब दे रहे थे। येद्दयुरप्पा ने उन्हें "चुनावी हिंदू" करार दिया था। वर्तमान कर्नाटक दौरे में राहुल अब तक देवी हुलिगम्मा मंदिर और गवि सिद्धवेश्वर मठ में जाकर दर्शन कर चुके हैं।

वह रायचूर जिले में एक दरगाह भी गए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और येद्दयुरप्पा पर निशाना साधते हुए राहुल ने कहा, "जब येद्दयुरप्पा जी और मोदी जी भ्रष्टाचार के बारे में बात करते हैं तो उन्हें लोगों को यह भी बताना चाहिए कि भाजपा शासनकाल में चार मंत्री और खुद येद्दयुरप्पा जेल गए थे। 11 मंत्रियों को इस्तीफे भी देने पड़े थे।"

वैमनस्य पैदा कर रही भाजपा -

राहुल गांधी ने भाजपा पर आरोप लगाया कि वह विभिन्न समुदायों के बीच वैमनस्य फैला रही है और आग भड़का रही है। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि हरियाणा, उत्तर प्रदेश और राजस्थान की तरह जहां-जहां भाजपा सरकारें हैं, वहां-वहां हिंसा का बोलबाला है। राहुल ने कहा कि मोदीजी शांति यहां (कांग्रेस शासित राज्य) है। कांग्रेस सभी को साथ लेकर चलने में विश्वास रखती है।

मिर्ची भाजी का लुत्फ -

चुनावी राज्य कर्नाटक में प्रचार के दौरान सोमवार को राहुल गांधी ने कलामला में सड़क किनारे एक दुकान पर रुककर स्थानीय व्यंजन "मिर्ची भाजी" का लुत्फ उठाया। पेयजल समस्या से जूझ रहे ग्रामीणों को संबोधित करने के बाद राहुल गांधी प्रदेश कांग्रेस के नेताओं के साथ इस दुकान पर चले गए और वहां मिर्ची-भाजी, मुरमुरे और चाय का लुत्फ उठाया।